रिश्ते निभाना जानते हैं

रिश्तों में बंधना आैर उन्हें निभाना ये हुनर सिर्फ इंसानों में ही पाया जाता है एेसा किसी को भी आमतौर पर कहते सुना जाता है, पर अगर आप बोर्ड पांडा की साइट पर साझा की गर्इ इन तस्वीरों को देखेंगे तो समझ सकेंगे की दोस्ती आैर भावुकता बस मनुष्यों की खासियत नहीं है। ये तस्वीरे या तो इन जानवरों के मालिकों ने साझा की हैं या किसी जू  आैर अभ्यारण में उनकी देखभाल करने वाले लोगों ने। ये रिष्ते बड़े अजीब हैं, हालांकि उनमें कर्इ जानवर जो अपनी प्रजाति से बिलकुल अलग पशु पक्षियों से रिश्ता निभा रहे हैं वो सामान्य रूप से अपने दल से अलग हो चुके जानवर हैं।

बेला आैर बबल की यारी सबसे न्यारी 

ये कहानी है एक हाथी बबल आैर लेब्राडोर डाॅग बेला की जो एक दूसरे के साथ मस्ती भी करते हैं आैर रिलैक्स भी, कद आैर आकार में जमीन आसमान का अंतर होने के बावजूद उनकी दोस्ती मिसाली है। दोनों की मुलाकात अमेरिका की एक राष्ट्रीय सफारी में हुर्इ आैर फिर उनकी पक्की दोस्ती हो गर्इ है। 

बिया आैर विल्मा बराबरी का रिश्ता 

अगर बेला आैर बबल के कद थे एकदम जुदा तो बिया आैर विल्मा के कद हैं एकदम बराबर क्योंकि वो हैं एक शुर्तरमुर्ग आैर जिराफ अमेरिका के बुश गार्डन के रहने वाले बिया जिराफ आैर विल्मा शुर्तरमुर्ग पक्के यार हैं। उनकी दोस्ती कोर्इ जबरदस्ती का सौदा नहीं है  कि एक ही जगह रहने के कारण उन्हें साथ रहना पड़ता है। उनके पास 65 एकड़ का खुला क्षेत्र है वे चाहें तो डिस्टैंस मेंटेन कर सकते हैं, पर उन्हें एक साथ रहना पसंद है। 

उल्लू के साथ कुत्ते का याराना देखा है कभी

ट्रोक़ नाम के कुत्ते और उल्लू श्रेक की दोस्ती तब शुरू हुर्इ जब ट्रोक़ महज छह माह का था आैर पशु संरक्षक उसे एक शेल्टर होम में इसलिए छोड़ गए थे कि कहीं उसकी मां ही उसे खा ना डाले। अब दोनों की दोस्ती एेसी है कि उन्हें अलग करना लगभग नामुमकिन है।  

कुत्ते के संरक्षण में बत्तख 

डेनिस नाम की इस बत्तख का जिंदा रहना भी दूभर था अगर फ्रेड नाम का लैब्राडोर कुत्ता अपने मालिक के साथ उसे तब शरण ना देते जब उसकी मां को एक लोमड़ी ने खा लिया था। उसके बाद से फ्रेड आैर डेनिस दोस्त भी हैं आैर वो उसका अभिवावक भी है। वैसे इस मामले में फ्रेड का दिल बहुत बड़ा है डेनिस से पहले वो एक बेबी डियर को भी गोद ले चुका है। 

मुर्गी बनी पिल्लों की संरक्षक 

ये तो कमाल का उदाहरण है ये मुर्गी अपने अंडों को नहीं सेती बल्कि नन्हें पिल्लों को अपने परों में छिपा कर गर्म रखती है। जबकि पिल्लों की मां उन्हें जन्म देने के बाद छोड़ कर चली गर्इ। मेबल नाम की ये मुर्गी उन्हें बड़े प्यार से पाल रही है। 

बिल्ली आैर लोमड़ी की साझेदारी 

चालाक आैर समझदार बिल्ली भी होती है आैर लोमड़ी भी पर उनकी दोस्ती कैसी होती है ये पता चलता है जब आप इन दोनों को देखते हो। बिल्ली आैर लोमड़ी की बांडिंग की ये तस्वीर एक मछुआरे ने तुर्की की वैन लेक के पास से ली थी। इनके बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता चला सिवाय इसके की ये साथ में ये दोनों बेहद खुश आैर मस्त लग रही थीं। 

Posted By: Molly Seth