मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मलेशिया के माबुल द्वीप पर दो सिर वाला एक कछुआ जन्मा है, जो वहां के लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ था। हालांकि जन्म के कुछ दिनों के बाद ही उसकी मौत भी हो गई।

स्थानीय रिपोट्र्स के अनुसार, वह कछुआ 15 जुलाई को माबुल द्वीप पर पाया गया था। हाल ही में उस स्थान पर 90 से अधिक हरे कछुओं ने जन्म लिया है।

उस स्थान के सरंक्षण प्रबंधक और समुद्री जीव वैज्ञानिक डेविड मैकेन ने बताया कि वो दो सिर वाला कछुआ बेहद ही आकर्षक था। वह अपने दाहिने सिर से अगले दाएं पैर को और बाएं सिर से अगले बाएं पैर को नियंत्रित करता था।

कछुआ पालन केंद्र के एक अन्य अधिकारी का कहना है कि यहां से करीब 13000 कछुओं ने जन्म लिया है, लेकिन ऐसा पहली बार है कि दो सिर वाला कछुआ पाया गया है।

वन्य जीव विभाग के डॉक्टर सेन नाथन ने बताया कि 17 जुलाई को उस कछुए की मौत हो गई, हालांकि उसकी मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया। ऐसे कछुओं के ज्यादा दिनों तक जीवित रहने की संभावना भी बहुत कम होती है।

नाथन ने आशंका जताई कि उसे चील ने अपना शिकार बना लिया होगा क्योंकि वह ठीक से तैर नहीं पा रहा था।

यह ऐसा पहली बार नहीं है कि दो सिर वाला कछुआ पाया गया था। मलेशिया के पूर्वी तट के एक द्वीप पर 2014 में भी दो सिर वाला कछुआ मिला था। वह केवल तीन माह तक जीवित रहा।

Posted By: kartikey.tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप