इंसानों को नशा करते हुए आपने जरूर सुना होगा पर राजस्थान के एक गांव में तोतों की नशाखोरी ने गांव में आफत मचा रखी है। मामला है राजस्थान के चितौड़गढ़ जिले की। यहां अफीम की खेती कर रहे किसानों को एक खास तरह की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। अफीम के फसलों की कटाई के बाद उससे विशेष प्रकार का तरल पदार्थ निकलता है। जिसे चूसने के लिए बड़ी संख्या में तोते खेतों में आते हैं।

किसानों के मुताबिक तोते इसे नशीले पदार्थ को चूसने के बाद पेड़ों पर बैठ जाते हैं और घंटों वहां सोए रहते हैं। कई पक्षियों को झुंड में चक्कर लगाते देखा जाता है और अत्यधिक अफीम का सेवन कर लेने के कारण वे पेड़ों से गिर भी जाते हैं। कई तोते नीचे मृत भी पाए गए हैं, कुछ को अन्य पक्षी मार देते हैं। किसानों का कहना है कि इलाके में और भी प्रजाति के पक्षी हैं, लेकिन लगता है कि तोते नशीली चीजों की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं।

इन नशेड़ी तोतों के कारण गांव के किसान परेशान हो चुके हैं। पर इन तोतों की इस लत से कैसे पार पाया जाए यह समझ नहीं पा रहे हैं।

अंग्रेजी भूल स्पेनिश बोलने लगा तोता

तोते ने खोली मालिक की पोल

By Babita kashyap