ऐसी है स्‍वचालित चप्‍पलें 

जापान की एक मशहूर कंपनी ने अत्‍याधुनिक स्‍वचालित चप्पलें बना ली हैं। इन्‍हें देखकर हर कोई हैरान है। चलिए जानते हैं इन सेल्फ ड्राइविंग चप्पलों और उनके प्रयोग के बारे में। इन्‍हें जापान की फेमस ऑटोमोबाइल कंपनी 'निसान' ने अपनी सेल्फ पार्किंग कारों की तर्ज पर बनाया है। जापान में टोक्यो के पास एक हेरीटेज लोकेशन पर निसान ने प्रो पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर पर इन सेल्‍फ पार्किंग चप्पलों को इस्‍तेमाल करना शुरु किया है। इस स्‍थान पर जो चप्पलें इस्तेमाल की जाती हैं वह अपने आप ही ठीक जगह पर पार्क होने में भी सक्षम हैं। कहने का मतलब यह है कि आप अपनी चप्पल को कहीं पर भी उतारें वो अपने आप दायें, बायें के सही क्रम में घूमकर दीवार के किनारे अपनी जगह पर जाकर पार्क हो जाती हैं, ताकि जब उसका मालिक वापस आए तो उसे अपनी चप्पलों के लिए खोजबीन न करनी पडे।
चप्‍पलों के जरिए पूरा किया दूसरा इरादा
पता चला है कि सेल्‍फ पार्किंग चप्पलें बनाने के पीछे निसान का उद्देश्‍य सिर्फ चप्‍पलों के रख रखाव की शानदार व्‍यवस्‍था करना नहीं है, बल्कि इस कमाल के प्रोजेक्‍ट के द्वारा कंपनी अपने सेल्‍फ ड्राइविंग वाहनों की टेक्‍नोलॉजी का दुनिया भर में डंका बजा रही है। वैसे जापान के इस हेरीटेज प्‍लेस पर चलती फिरती चप्पलों को देखकर आने वाला हर पर्यटक काफी खुश और रोमांचित होता है। सेल्फ पार्किंग चप्पलों को प्रस्‍तुत करके कंपनी स्‍वचालन तकनीक के बारे में लोगों को जागरुक करना चाहती है। साथ ही कंपनी चाहती है कि लोग समझें कि अपने आप चलने वाली कारों, घरेलू और ऑफीशियल सामान या मशीनों में कुछ तो खास बात है जो हमारी आपकी जिंदगी आसान बनाएगीं।
ऐसे काम करती हैं ये चप्पलें
निसान द्वारा बनाई गईं इन अनोखी सेल्फ पार्किंग चप्‍पल में दो बहुत छोटे पहिए, एक मोटर और एक सेंसर लगा हुआ है। यह सेंसर हर चप्पल को मैसेज देता है कि उसे रखने की नजदीकी सबसे सही जगह कौन सी है। इसके बाद यह चप्पलें खुद-ब-खुद खिसकती हुई अपने सही ठिकाने पर जाकर पार्क हो जाती हैं। 
 
चप्पल पहनने के बाद भी खुद चलेंगी?
निसान कंपनी ने सेल्फ पार्किंग वाली ये चप्पलें बना तो दीं लेकिन इन्हें देख कर लोग यही सवाल कर रहे हैं कि क्‍या इस चप्पल को पहन लेंगे, तब भी ये अपने आप चलेगी और हमें एक से दूसरे स्‍थान ले जा सकेगी? फिलहाल इसका जवाब किसी के पास नहीं है, फिर भी ये चलती फिरती चप्पलें जापान ही नहीं सोशल मीडिया द्वारा दुनिया भर में चर्चा का विषय बनी हुई हैं।
 

By Molly Seth