लैरी पेज का स्‍टार्टअप आगे आने को तैयार 

जाम की समस्‍या से केवल भारत ही नहीं बल्‍कि कई यूरोपीय देश भी जूझ रहे हैं। ऐसे में हर कोई ऐसी कार का सपना देख रहा है जो उन्‍हें दम घोटू जाम के बीच से निकाल कर हवा में उड़ा कर गंतव्‍य तक पहुंचा दे। इस सपने को पूरा करने में कई ऑटो कंपनियां जुट गई हैं जैसे उबर का दावा है कि 2023 तक उसकी फ्लाइंग वाहन सेवा काम करने लगेगी। इसी क्रम में गूगल के सह संस्‍थापक लैरी पेज ने भी कुछ खास करने इरादा बनाया है। द वायर की मानें तो लैरी ने अपने स्टार्टअप प्रोजेक्ट किटी हॉक से लोगों को उड़ने वाली कार उपलब्‍ध कराने की पूरी तैयारी कर ली है। कंपनी ने अपनी उड़ने वाली कार की डिटेल भी जारी की है। इस फ्लाइंग कार का नाम है 'फ्लायर' बताया जा रहा है। 

आराम से उड़ायें फ्लायर

रिर्पोट के मुताबिक कंपनी का दावा है कि जल्‍दी ही 10 छोटे पंखों वाली इस फ्लाइंग कार की टेस्‍ट ड्राइव की बुकिंग प्रारंभ हो सकती है। फ्लायर फ्लाइंग कार ड्राइविंग के लिए संभवत शायद सबसे आसान होगी इसीलिए इसे चलाने के लिए किसी को भी प्रोफेशनल पायलट लाइसेंस की जरूरत नहीं पड़ेगी। इतना ही नहीं नहीं जो लोग भी इस कार को उड़ाना चाहते हैं, वो सिर्फ1 घंटे की बेसिक ट्रेनिंग के बाद इसको उड़ा सकेंगे। किटी हॉक की यह फ्लाइंग कार किसी हेलीकॉप्‍टर को उड़ाने जैसी कठिन नहीं होगी। कंपनी से जुड़े सूत्रों की माने तो उनके इस वाहन को उड़ाना बहुत ज्यादा आसान है, क्योंकि इसमें सिर्फ दो कंट्रोल्‍स लगे हैं, जिन्‍हें समझना आम लोगों के लिए आसान होगा। यही वजह है कि वे महज एक घंटे में किसी भी व्‍यक्ति के इसे चलाने का प्रशिक्षण पूरा करने का दावा कर रहे हैं। 

फ्लाइंग कार की खासियतें

किट्टी हॉक के सीईओ सेबेस्टियन थ्रुन के हवाले से कहा जा रहा है कि बेशक आगे आने वाले दिनों में इस फ्लाइंग कार की स्पीड 50 या 100 मील प्रति घंटा तक हो जाएगी, पर फिलहाल सिर्फ 20 मील प्रति घंटा की रफ्तार से ही इसे उड़ाया जा सकता है। जिसका मतलब है कि 10 फुट की ऊंचाई पर उड़ सकने वाली फ्लायर अभी करीब 32 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से हवा में उड़ाई जा सकेगी। इस कार का आकार के एक छोटे ड्रोन जैसा है, और इसमें 10 बैट्रीज लगी हैं, जिन्‍हें एक बार चार्ज करके 20 मिनट की उड़ान भरी जा सकती है। अभी ये कार सिर्फ परिक्षण के लिए ही उपलब्ध है, और सुरक्षा के दृष्टिकोण से लास वेगास की एक झील के ऊपर ही इसे उड़ा सकते हैं। कंपनी का दावा है कि एक बार ट्रेनिंग पूरी हो जाने के बाद कोई भी व्‍यक्‍ति सिर्फ 5 मिनट में उनकी फ्लाइंग कार को उड़ाने के लिए तैयार हो सकता है।

 

Posted By: Molly Seth