काफी पुरानी है प्रतियोगिता

दुनिया अनोखी बातों से भरी हुर्इ है, उसी में से एक है विश्व स्नेल रेसिंग प्रतियोगिता जिसमें दुनिया भर के घोंघे भाग लते हैं। बताते हैं कि ये प्रतियोगिता काफी पुरानी है आैर लगभग 60 के दशक से आयोजित की जा रही है। रायटर्स के अनुसार इस बार भी बीते शनिवार पूर्वी इंग्लैंड की नॉरफ्लॉक काउंटी के एक शहर में इसका आयोजन हुआ था। इस प्रतियोगिता में करीब 150 से अधिक घोंघो ने भाग लिया। प्रतियोगिता में घोंघो की पसंद का र्इनाम भी होता है उन्हें सलाद के पत्तों से भरा चांदी का टैंकर दिया जाता है। 

इस घोंघे को मिली जीत 

इस साल का विजेता रहा लैरी नाम का घोंघा जिसने 2 मिनट के समय में 33 सेंटीमीटर की दूरी तय की। उसकी जीत से उसकी मालकिन तारा बीसले काफी खुश थीं आैर उसने घोंघे को र्इनाम में तीन अंगूर दिये। हालाकि लैरी पिछले कीर्तिमान को नहीं तोड़ सका जो 2 मिनट से कुछ कम था  आैर उसे 1996 में  आर्ची नाम के घोंघे ने कायम किया था। हालाकि इस बारे में तारा का कहना है कि लैरी रिकाॅर्ड तोड़ सकता थ्ज्ञा अगर उसे प्रशिक्षण मिला होता, पर बिना ट्रेनिंग के पहली बार भाग लेने के लिहाज से ये प्रर्दशन शानदार था। 

मिलता है प्रशिक्षण 

इन घोंघों को रेस से पहले गीले कपड़ों पर रखा गया था। प्रतियोगिता के आयोजकों ने बताया कि वे घोंघों को रेस का प्रशिक्षण भी देते हैं। इसके लिए उनके पास ट्रेनिंग स्लोप हैं। वहां पर उनके भोजन आैर दवाइयों का भी ख्याल रखते हैं। आयोजकों का दावा है कि यहां वह सब कुछ है जो उत्कृष्ट खेलों में होता है। चैम्पियनशिप में शामिल होने वाले लोग आयोजकों के उपलब्ध कराये घोंघों में चुनाव कर सकते हैं या फिर अपना घोंघा भी ला सकते हैं। रेस के लिए तीन गोलाकार लाइनें बनाई जाती हैं आैर घोंघों को गोले के केंद्र से बाहर की आेर दौड़ना पड़ता है।  

Posted By: Molly Seth