आमतौर पर लोग कहीं आने-जाने के लिए ही ट्रेनों का प्रयोग करते हैं। लेकिन जर्मनी की एक छात्रा लियोनी मूलर ने ट्रेन को ही अपना घर बना लिया है। वह ट्रेन में ही रहती है और सफर के दौरान पढ़ाई करती है। ट्रेन रूट पर पडऩे वाले रिश्तेदारों या दोस्तों के घर पर सोती है। उसके पास एक छोटा बैग रहता है जिसमें रोजमर्रा का सामान और किताबें रहती हैं। घर के किराये को लेकर मूलर का मकान मालिक से झगड़ा हो गया था। तब से मूलर ने ट्रेन में ही रहने की ठान ली। उसने 380 डॉलर करीब 25 हजार रुपये में देश की किसी भी ट्रेन में निशुल्क सफर करने का पास बनवाया है। उसके पिछले घर का किराया 450 डॉलर प्रति माह करीब 30 हजार रुपये था। मतलब इससे 70 डॉलर का फायदा और साथ में देश घूमने का लुत्फ भी। उसका मानना है कि ट्रेन में रहने से वह अपने ब्वॉयफ्रेंड और रिश्तेदारों से भी उनके शहर में जाकर मिल लेती है। इससे रिश्ते भी बने रहते हैं।

यहां बस में छिपी है 5 करोड़ की ज्वेलरी, ढूंढ़ो और ले जाओ

Posted By: Babita kashyap