स्वागतकर्मी बने डायनासोर

रायटर की एक खबर के अनुसार जापान में पूर्वी टोक्यो के एक होटल में आने वाले वाले महमानों के स्वागत की जिम्मेदारी कुद डायनासोर को सौंपी गर्इ है। हालांकि इस खबर को पढ़ कर कमजोर दिल वालों को घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि ये डायनासोर असली नहीं बल्कि रोबोट हैं। अजीब बात ये है कि ये डायनासोर तब तक कुछ नहीं कहते आैर करते जब तक होटल में आने वाले लोग खुद रिसेप्शन पर जा कर कोर्इ सवाल नहीं करते या फिर कोर्इ जानकारी नहीं मांगते। अब आप सोच रहे होंगे कि एेसा क्यों तो उसकी वजह ये है। 

तकनीक का प्रभाव 

दरअसल इसकी वजह है कि इन रोबोटिक डायनासोर को आने वाले मेहमानों के बारे में तभी पता चलता है जब वो रिस्पेशन पर पहुंचते आैर वहां मौजूद सेंसर से उनकी गति की जानकारी होती है।

इसके बाद ही वे कहते हैं स्वागत है। है ना विचित्र, तो जान लीजिए एक आैर अनोखी बात इस जापानी होटल का नाम है हेन ना जिसका मतलब ही होता है विर्यड या अनोखा। ये जापान का खासा मशहूर होटल है। 

कर्इ भाषाआें में करते हैं बात 

बताया जा रहा है कि यह जापान पहला ऐसा होटल है जिसमें डायनासोर रोबोट काम कर रहे हैं। यहां पर रोबो-डायनासोर की एक जोड़ी रिसेप्शन पर मौजूद रहती है जिसे देख कर हाॅलीवुड फिल्म जुरासिक पार्क के डायनासोर याद आ जाते हैं। विशेष बात ये है कि यह रोबोटिक डायनासोर आने वाले अतिथियों को उनकी भाषा चुनने का भी विकल्प देते हैं। इन रोबोट के पास एक टैबलेट सिस्टम मौजूद है जिसकी मदद से वे वह लोगों से जापानी, अंग्रेजी, चीनी आैर कोरियाई जैसी आैर भी कई भाषाओं में बातचीत कर सकते हैं। 

कमरों में भी हैं मिनी रोबोट 

होटल के रिसेप्शन पर मौजूद रोबोट डायनासोर की यह जोड़ी बेहद आकर्षक लगती है। ये बड़े कद के हैं आैर इनके हाथ काफी लंबे हैं। होटल की खासियत यहीं खत्म नहीं होती बल्कि यहां के हर कमरे में एक मिनी रोबोट भी मौजूद रहता है। ये रोबोट मेहमान के कहने पर टीवी का चैनल बदलने से लेकर उनके आॅर्डर प्लेस करने तक सब काम करने में मदद करता है। साथ ही होटल की लॉबी में एेसा एक्वेरियम है जिसमें मछलियां बैटरी से तैरती हैं, आैर इस दौरान उनके शरीर में बिजली चमकती रहती है।

Posted By: Molly Seth