पिता ने कराया अपने बच्चे को ब्रेस्टफीड 

हाल ही में एक तस्वीर वायरल हुर्इ जिसमें एक पिता अपने नवजात बच्चे को सीने से लगा कर दूध पिला रहा है। इस व्यक्ति का नाम मैक्समिलन न्यूब्यूर बताया गया है आैर इसने खुद अपने फेसबुक पेज पर नवजात बच्ची को दूध पिलाते हुए तस्वीर साझा की है। मैक्समिलन ने अपने फोटो के साथ लिखा कि वे केवल पिता ही नहीं बने बल्कि वह अपनी  बेटी को ब्रेस्टफीड कराने के बाद एेसा करने वाले पहले शख्स भी बन गए हैं। उनकी सोशल मीडिया पर वायरल हुर्इ तस्वीर पर ज्यादातर तारीफ भरे कमेंट आ रहे हैं, हालांकि कुछ लोग मैक्समिलन की आलोचना भी कर रहे हैं। बहरहाल जहां तक मैक्समिलन का सवाल है वे इन सबसे बेपरवाह होकर अपनी बेटी की देखभाल करके बेहद खुश हैं। वहीं उनकी बेटी रोशिल दुनिया की पहली एेसी बच्ची बन चुकी है जो तकनीकी रूप से  पिता का दूध पीकर पल रही है। 

पत्नी की मेडिकल कंडीशन के चलते लिया फैसला 

सीएनएन के अनुसार मैक्समिलन की पत्नी अप्रिल न्यूब्यूर ने बताया कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वे कभी बच्चे को जन्म दे सकेंगी, क्योंकि उन्हें पोलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम था! ये एक एेसी बीमारी है जिसमें हार्मोन के असंतुलन से मासिक धर्म में अनियमितता आ जाती है, आैर उसके कारण गर्भ धारण करना मुश्किल हो जाता है। संभवत इसी वजह से अप्रिल को डिलीवरी के दौरान काफी समस्या हो गर्इ थी, आैर उन्हें आर्इसीयू में भर्ती होना पड़ा, जिस की वजह से वह अपनी बेटी को तुंरत ब्रेस्टफीड नहीं करा सकती थीं। इस तरह उनके पति को बेबी फीडिंग की जिम्मेदारी उठानी पड़ी। इस अवसर पर उनकी डाली गर्इ तस्वीर अब तक 30,000 से ज्यादा बार शेयर हो चुकी है। 

कैसे पूरी हुर्इ प्रक्रिया 

ये तो सभी जानते हैं कि बच्चे को जन्म देने के बाद स्वाभविक रूप से मां उसे स्तनपान करा सकती है, पर एक पुरुष के तौर पर मैक्समिलन ने ये कैसे किया ये एक पूरी अलग तकनीक है। दरसल जिस डोर काउंटी मेडिकल सेंटर में उनकी बेटी रोशिल का जन्म हुआ वहां एक नर्स ने उन्हें ब्रेस्टफीड कराने का मौका दिया। इसके लिए नर्सों के निर्देश के अनुसार मैक्समिलन ने सप्लीमेंटल नर्सिंग तकनीक को अपनाते हुए अपनी बच्ची को स्तनपान कराया। हॉस्पिटल की नर्सों ने उनसे 'स्किन टु स्किन' कॉन्टैक्ट के लिए सहमति देने के बारे में पूछा और वे तुरंत राजी हो गए। उनका मानना है कि वे भाग्यशाली हैं कि फेक निपल से अपने बच्चे को ब्रेस्टफीड करवा सके। उनके अनुसार ये उन्हें दुनिया भर की माआें के सम्मान में किया है। वहीं उनकी मदद करने वाली नर्स का कहना है कि जब वह पिताओं को अपने बच्चों को ब्रेस्टफीड कराने के लिए कहती थीं तो हमेशा उन्हें शक और हैरानी वाले भाव से देखा जाता था, लेकिन मैक्समिलन की प्रतिक्रिया उत्सुकता और सकारात्मकता भरी थी।

 

Posted By: Molly Seth