करोड़ों का हरजाना

कनाडा में एक अनोखा मामला सामना आया है। यहां संगीत की शिक्षा ले रहे एक शख्‍स ने अपनी पूर्व प्रेमिका पर करियर बबार्द करने की साजिश का इल्‍जाम लगाते हुए मुकदमा दायर कर दिया। हफ़िंगटन पोस्ट की खबर में बताया गया है एक कनाडियन अदालत ने एरिक अब्रामोविट्ज नाम के इस व्‍यक्‍ति के आरोप को सही पाया और जेनिफर ली नाम की उसकी पूर्व प्रेमिका को सजा सुनाते हुए 2 लाख 60 हजार डॉलर यानि भारतीय मुद्रा में करीब 1 करोड़ 78 लाख रुपये का जुर्माना भरने की सजा सुना दी। 

ना जाओ हम से दूर

मामला साल 2014 का बताया जा रहा है जब एरिक और ली एक साथ मॉन्ट्रियल की मैकगिल यूनिवर्सिटी में संगीत की पढ़ाई कर रहे थे। उस दौरान वे एक दूसरे को डेट भी कर रहे थे। इसी साल एरिक ने लॉस एंजिल्स के मशहूर स्कूल कोलबर्न कंजरवेटरी ऑफ म्यूजिक में प्रवेश के लिए आवेदन किया। इसके पीछे बड़ी वजह ये थी वो वहां के मशहूर संगीत शिक्षक क्लेरिनेट येहुदा गिलाड से संगीत सीखना चाहता था। गिलाड के पास यहां साल में केवल दो छात्रों को प्रवेश मिल सकता है। इस सपने को पूरा करने के लिए एरिक ने कड़ी मेहनत करके तैयारी की और लाइव ऑडीशन भी दिया। उसे पूरी उम्‍मीद थी की उसे प्रवेश मिल जायेगा और ऐसा हुआ भी। खास बात ये थी कि उसे प्रवेश पूरी छात्रवृत्‍ति के साथ मिला जिसमें उसके रहना, और पढ़ाई करने के ज्‍यादातर खर्च शामिल थे। कहानी में ट्विस्‍ट तब आया जब ली ने उसका प्रवेश मिलने की खबर देने वाला मेल डिलीट करके उसकी जगह उउसका आवेदन रद्द किये जाने का झूठा मेल भेज दिया। इसके पीछे उसकी सिर्फ एक वजह थी कि वो चाहती थीं कि एरिक उनसे दूर ना जाये। इसके बाद एरिक ने अपनी पढ़ाई मॉन्‍ट्रियल से पूरी की। 

2 साल बाद सच आया सामने

मैकगिल यूनिवर्सिटी से 2 साल की ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद भी एरिक के मन में गिलाड से पढ़ने की इच्छा खत्‍म नहीं हुई थी। इसके चलते उसने दो साल के सर्टिफिकेट प्रोग्राम के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफोर्निया में एडमिशन ले लिया। यहां भी कुछ वक्‍त के लिए गिलाड की कक्षायें होती थीं। यहां पर एरिक और गिलाड ने दूसरी मुलाकात में ही एक-दूसरे से एक ही सवाल किया उन्‍हें रिजेक्ट क्यों किया। दोनो ही इस सवाल से हैरान हुए और एरिक को शक हुआ कि कुछ गड़बड़ है। उन्‍होंने रिजेक्शन वाला ईमेल दिखाने सामने रखा जिस पर गिलाड ने कहा कि उन्‍होंने तो उसे पहले कभी देखा तक नहीं। अब एरिक ने पूरे मामले की सच्चाई पता करने की ठानी।

बन गए जासूस

एरिक कहते हैं कि साथ पढ़ाई के दौरान जब वे और ली एक दूसरे को डेट कर रहे थे तो उन्‍होंने अपने सोशल मीडिया के पासवर्ड एक दूसरे से साझा किए थे। एक दोस्‍त की मदद से ली ने जब ऐसे ही पासवर्ड के जरिए एरिक ने ली का अकाउंट चेक किया तो वो काम कर गया और पता चला की ली ने ही उसका सेलेक्‍शन का ओरिजनल मेल डिलीट करके फेक रिजेक्‍शन मेल भेजा था। इसके बाद उसने ली से संपर्क किया पहले तो उसने इस बात से इंकार किया, बार बार पूछने पर टाल मटोल करती रही पर बाद में सबूत दिखाने पर उसने कहा कि वो नहीं चाहती थी की एरिक उनसे देर जाये इसलिए उसने ये कदम उठाया। इस पर एरिक ने उन पर केस कर दिया और अदालत में जीत हासिल कर करोड़ों का जुर्माना वसूला।    

 

Posted By: Molly Seth