एक युवती ने दावा किया है कि वह 97 दिनों से उपवास कर रही है और इस दौरान उसने अन्न का एक भी दाना नहीं खाया है। वह जीवित रहने के लिए प्रकृति से एनर्जी लेती है। उसका डाइट प्लान भी चौंकाने वाला है।

अमेरिका के मिनेसोटा की रहने वाली 25 वर्षीय औड्रा बीयर प्राण वायु के माध्यम से स्वयं को जीवित रखे हुए हैं। वह खुद को ब्रेदएरियन कहती हैं। ब्रेदएरियन वे लोग होते हैं, जिनका मानना है कि जीवित रहने के लिए भोजन की आवश्यकता नहीं है।

डॉक्टरों ने उनको ऐसे डाइट प्लान के खतरों को लेकर चेताया है, लेकिन वह कहती हैं कि यह उनके लिए अच्छा है। वो बताती हैं कि उन्होंने कई वर्षों में कई तरह के डाइट प्लान फॉलो किए हैं, वे कुछ समय तक वेगन शाकाहारी और रॉ वेगन भी रहीं। इसके बाद इस डाइट प्लान को फॉलो कर रही हैं।

वह कहती हैं कि इस जीवन शैली में व्यक्ति को जीवित रहने के लिए श्वास के जरिए और आस-पास की प्रकृति से ही एनर्जी लेनी होती है। कुछ लोगों ने उनको बताया है कि यह स्वास्थ्य के लिहाज से नुकसानदायक है।

औड्रा दिन में करीब 3 घंटे अपने श्वास पर ध्यान लगाती हैं और दिनभर चाय एवं जूस पर रहती हैं।

Posted By: kartikey.tiwari