सलाद से बचने के लिए पुलिस का सहारा

कनाडा में पिछले दिनों पुलिस की इमर्जेंसी सेवा पर एक 12 साल के किशोर की कॉल आई, जिसमें उसने तुरंत मदद करने की गुहार लगाई थी। आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि ये मदद किस लिए चाहिए थी। दरसल इस बच्‍चे को सलाद कतई नापसंद था जबकि उस रोज उसकी मां ने वही खाने में परोस दिया था। जाहिर है जब उसके खाने से इंकार करने पर मां ने आदेश दिया कि उसे वही खाना है तो उसने अपने लिए मदद तलाशी और ये मदद उसे नजर आई पुलिस की आपात सेवा के रूप में। उसने इस बात की शिकायत के लिए रॉयल कनाडियन माउंटेड पोलिस यानिआरसीएमपी के आपात नंबर 911 पर फोन कर दिया। उसने 911 पर फोन से शिकायत दर्ज की, कि उसके अभिवावक उससे घर में बने सलाद को खाने के लिए कह रहे हैं जो बिलकुल भी पसंद नहीं है। इतना ही नहीं जब थोड़ी देर तक पुलिस घर नहीं पहुंची तो उसने दोबारा फोन करके पता किया कि वे कब तक उसके घर पहुंच रहे हैं। 

लोगों को जागरूक करने के लिए मौके का किया इस्‍तेमाल

बिजनेस इनसाइडर और कनाडाई समाचार साइट सीबीसी की रिर्पोट के अनुसार कनाडा के नोवा स्कोटिया में पुलिस को इस मंगलवार की रात को 911 नंबर पर एक आपात कॉल रिसीव आई, जिसमें एक किशोर मदद मांग रहा था। उसने अपने आप को सलाद से बचाने के लिए पुलिस बुलाई थी। इस खबर से हैरान पुलिसकर्मियों ने आखिरकार फैसला किया कि इस मौके का इस्तेमाल अभिभावकों को जागरूक करने के लिए किया जाए ताकि वे अपने बच्‍चों को भी सिखा पायें कि आपात नंबर का प्रयोग किन परिस्‍थितियों में करना सही होता है। इसके साथ ही वे शिकायत करने वाले किशोर से भी मिले और उसे न सिर्फ सलाद के फायदों के बारे में बताया बल्कि यह भी समझाया कि 911 पर कब फोन करना चाहिए। 

आते रहते हैं बेमतलब के फोन 

इस बारे में पुलिस के सूत्रों से पता चला है कि बच्‍चे या किशोर ही नहीं कई व्‍यस्‍क लोग भी बिना सिर पैर की शिकायतें 911 नंबर पर करते रहते हैं। ज्‍यादातर मामलों में पुलिस की कोई जरूरत होती भी नहीं है। उदाहरण के लिए उन्‍होंने बताया कि ऐसे भी फोन आते हैं कि टीवी रिमोट नहीं मिल रहा है, या रेस्तरां में समय पर ऑर्डर सर्व नहीं किया जा रहा है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक बार तो एक माता-पिता ने महज इसलिए 911 पर फोन कर दिया था क्‍योंकि उनका बच्चा उनकी पंसद का हेयरकट नहीं करवा रहा था। 

 

Posted By: Molly Seth