मोहसिन के घर पहुंची थी एनआइए की तीन सदस्यीय टीम, साथ ले गई दस्तावेज

पटना । इस्लामिक स्टेट (आइएस) के लिए धन जुटाने के आरोप में दिल्ली के बाटला हाउस से गिरफ्तार मोहसिन अहमद की कुंडली खंगाल रही दिल्ली एनआइए की टीम पांच दिन पूर्व दीघा स्थित न्यू कालोनी में उसके घर छापेमारी की। एनआइए के साथ स्थानीय पुलिस भी मौजूद रही। एनआइए सुबह से लेकर शाम तक न्यू कालोनी में स्थित मोहसिन के घर के सदस्यों से पूछताछ करने के साथ ही उसके कमरे की तलाशी ली। इस दौरान एनआइए कुछ अहम दस्तावेज अपने साथ ले गई। साथ ही मोहसिन का पटना या बिहार के अन्य जिलों में कौन करीबी था और किसके संपर्क में रहा था, इसके बारे में भी जानकारी जुटाई गई।

------------

छह राज्यों के 13 ठिकानों पर हुई थी छापेमारी

स्वतंत्रता दिवस के पूर्व एनआइए ने दिल्ली में तलाशी अभियान शुरू किया था और आइएस माड्यूल की गतिविधियों में कथित रूप से शामिल होने के आरोप में मोहसिन को गिरफ्तार किया गया था। इसके पूर्व 31 जुलाई को एनआइए देश के छह राज्यों मध्य प्रदेश में भोपाल और रायसेन, गुजरात के सूरत, नवसारी और अहमदाबाद, बिहार के अररिया, कर्नाटक, महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश में संदिग्ध के 13 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

-----------------

एक्सजेंच से भी रिकार्ड खंगाल रही एनआइए

मोहसिन मामले में छानबीन में यह बात सामने आई थी कि क्रिप्टो करेंसी के जरिए फंडिंग की जा रही थी। सूत्रों की मानें तो मोहसिन को रिमांड पर लेने के बाद एनआइए की तीन सदस्यीय टीम पटना पहुंची थी। एनआइए के साथ कुछ पुलिसकर्मी भी थे। बेहद गोपनीय ढंग से एनआइए मोहसिन के घर पहुंची और छानबीन के बाद वहां से चली गई। सूत्रों की मानें तो एनआइए क्रिप्टो करेंसी के एक्सचेंज से भी रिकार्ड खंगाल रही है। कितनी क्रिप्टो करेंसी कब और कहां भेजी गई थी, इस बारे में भी एनआइए पता कर रही है।

------------

मोहसिन ने एनआइए को बताया था दो नाम

सूत्रों की मानें तो पूछताछ के दौरान मोहसिन दो संदिग्धों का नाम भी एनआइए को बताया था। मोहिसन के कनेक्शन यूपी और कर्नाटक से भी जुड़े हैं या नहीं, इस बिन्दु पर भी एनआइए जांच कर रही है। साथ ही वह आइएस के संपर्क में कैसे आए इस बारे में भी जांच एजेंसी जानकारी जुटा रही है। बताया जा रहा है एनआइए पटना में दोबारा आ सकती है।

Edited By: Jagran