राजा तालाब में वेदी विसर्जन के साथ पूरी हुई मां मनसा पूजा

संवाद सहयोगी ,करौं (देवघर): करौं के बाउरी टोला में गुरुवार की सुबह राजा तालाब में वेदी विसर्जन के साथ ही मां मनसा पूजा संपन्न हो गई। सड़क के दोनों ओर श्रद्धालुओं ने नत मस्तक होकर माता को प्रणाम किया। करौं के बाउरी टोला, नापित टोला, बागती टोला, गोस्वामी मनसा मंदिर, दास टोला के अलावा केदबरिया, सियांटांड़, भौरंडीहा, नवाडीह (बसकूपी), लकरछरा, पथरौल समेत अन्य जगहों में मनसा की पूजा की गई। कई जगहों पर मां मनसा की प्रतिमा स्थापित की गई। सोमवार को सभी व्रती उपवास में रहकर रात्रि में मां मनसा की पूजा अर्चना फल-फूल, घटरा, पेड़ा, आदि चढ़ाकर किया। इस दौरान मनसा-मंगल के पाठ से समूचा वातावरण गुंजायमान हो उठा। बाउरी टोला में पूजा के दूसरे दिन ‘मां के अनाते जावो चूड़ा नदीर फूल, गले दिवो चांद माला चरोणे जवा फूल‘ का गायन करते हुए ढोल ढाक के साथ भक्तगण राजा तालाब से जल लाकर मां मनसा को स्थापित किया। उल्लेखनीय है कि बंगला भाषी क्षेत्र के कारण मनसा मां की पूजा का यहां विशेष महत्व है। यह पूजा मुख्य तौर पर तीन दिनों तक चलता है। प्रथम दिन भक्तगण संयम में रहते हैं। जबकि दूसरे दिन उपवास में रहकर रात में मां मनसा की पूजा करते हैं। विषैले जीवों के दंश से बचने के लिए मां मनसा की पूजा किया जाता है।

Edited By: Jagran