बंसीधर ठाकुरबाड़ी में दो सौ वर्षों से कृष्णोपासना

संवाद सहयोगी, करौं (देवघर): प्रखंड मुख्यालय से लगभग 12 किमी दूर हरे-भरे पेड़-पौधे से घिरा तेतरिया गांव में स्थित है बंशीधर ठाकुरबाड़ी में लगभग दो सौ वर्षों से कृष्णोपासना हो रही है। 20 अगस्त को यहां धूमधाम से नंदोत्सव में श्रद्धालुओं का जमघट होगा। बंसीधर ठाकुरबाड़ी के अनुयायी बंगाल, बिहार, उड़ीसा, असम समेत पूरे देश में फैले हैं। मन्दिर के पुजारी उत्तम पाठक ने बताया कि उनके परदादा स्व दामोदर पाठक ने यहां मंदिर को स्थापित किया है। बताया कि लगभग दो सौ वर्ष पहले उनके परदादा गंगा स्नान करने कोलकाता गए थे। नदी में डुबकी लगाने के दौरान उनके कंधे पर कुछ बैठा महसूस हुआ। ऐसी घटना उनके साथ तीन बार घटी। इसके बाद कंधे पर बैठे चीज को देखा तो भगवान श्रीकृष्ण का विग्रह मिला। बताया कि वर्तमान में पांचवीं पीढ़ी द्वारा पूजा-अर्चना किया जा रहा है।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट