नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। Flood Alert In Delhi: दिल्ली यमुना के जल स्तर को देखत हुए दिल्ली सरकार ने सभी संबंधित विभागों से तालमेल बनाकर बाढ़ (Delhi Flood ALERT) की स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए कहा है। पुलिस कर्मियों के अलावा दिल्ली सरकार ने प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और स्थानांतरित करने के लिए सिविल डिफेंस वालंटियर्स (सीडीवी) को तैनात किया है। 

लोगों का जागरूक करने का काम जारी

ये वालंटियर्स नदी के आसपास निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को जागरुक करने के लिए भी लगातार काम कर रहे हैं। सरकार की ओर से सभी संबंधित जिलाधिकारियों और उनकी जिला सेक्टर समितियों, सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, दिल्ली पुलिस और अन्य हितधारकों को हाई अलर्ट मोड पर रहने के लिए कहा गया रखा है।

केजरीवाल ने की अपील कि यमुना के किनारों की तरफ़ जाने से बचें
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में यमुना नदी के बढते जलस्तर पर ट्वीट किया कि दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ गया है, सभी से मेरी अपील कि नदी के किनारों की तरफ़ जाने से बचें। यमुना के आस-पास रहने वाले लोगों के लिए हमने पर्याप्त बंदोबस्त कर रखे हैं। सरकार और प्रशासन का सहयोग करें। हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

हो चुकी है एडवायजरी जारी

दिल्ली सरकार का कहना है कि इससे पहले गत 11 अगस्त को हथिनी कुंड बैराज से 221781 क्यूसेक प्रति घंटे की भारी मात्रा में पानी छोड़ने के कारण, केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) ने एक एडवाइजरी जारी की थी।

इस एडवाइजरी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने बैठक की है, जिसमें सभी संबंधित डीएम, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी और आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारी उपस्थित थे।

उन्हें यमुना नदी में बढ़ते जल स्तर को देखते हुए किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया गया था। उन्हें यह भी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया था कि कोई भी व्यक्ति नदी के पास न जाए।

यूपी और हरियाणा के साथ समन्वय बनाने की बात

राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर लोगों को प्रभावित क्षेत्र से निकालने और आश्रय, भोजन, पानी, दवा आदि जैसी सभी आवश्यक सुविधाएं देकर सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित करने का भी निर्देश दिया गया है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग को आपस में समन्वय के साथ काम करने को भी कहा गया है।

डीएम को अलर्ट रहने के निर्देश

इसके साथ ही डीएम (दक्षिण-पश्चिम) को नजफगढ़ ड्रेन में जल स्तर पर कड़ी नजर रखने और सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के साथ समन्वय में काम करने का निर्देश दिया गया है। दिल्ली सरकार ने मुनादी और बचाव कार्य के लिए 51 नावों को ड्यूटी पर तैनात किया है। 

Edited By: Jp Yadav