नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 17 साल की किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर देने के मामले में साढ़े तीन साल से फरार चल रहे भगोड़ा घोषित आरोपित को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में शामिल चार आरोपितों को बुलंद शहर पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। मुख्य आरोपित संजू फरार था। उस पर यूपी पुलिस की तरफ से 25 हजार का इनाम था।

शराब के नशे में की थी गलत हरकत

पांचों ने शराब के नशे में घिनौनी हरकत की थी। किशोरी, संजू की प्रेमिका थी और उसके साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहती थी। डीसीपी अमित गोयल के मुताबिक संजू, देवली का रहने वाला है। स्नातक के बाद उसने निजी कंपनी में काम करना शुरू किया, लेकिन कुछ समय बाद ही नौकरी छोड़ दी थी और अपना डेयरी का व्यवसाय शुरू कर दिया था। 2004 में उसने शादी की थी।

शादी के 14 साल बाद किशोरी के संपर्क में आया संजू

2018 में वह एक किशोरी के संपर्क में आया और कुछ मुलाकातों के बाद वे करीबी दोस्त बन गए और लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे। उसके दोस्त भी किशोरी से मिलते थे। जनवरी 2019 में वह किशोरी और अपने दोस्तों के साथ एक तांत्रिक से मिलने बुलंदशहर गया था। वहां सभी ने नशे में धुत होकर एक के बाद एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया।

पुलिस रिपोर्ट दर्ज कराने की धमकी पर की हत्या

पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने की धमकी देने पर सभी ने किशोरी की हत्या कर दी। किशोरी का शव खेत में मिला था। खून से सनीं ईंटें भी शव के पास पड़ीं थीं। घटना के बाद यूपी पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। कार्रवाई से डरकर संजू दिल्ली स्थित घर छोड़कर गुरुग्राम में रहने लगा। बुलंदशहर के कोतवाली सिटी थाने में उक्त मामले में प्राथमिकी दर्ज है। नहीं पकड़े जाने पर कोर्ट ने संजू को भगोड़ा घोषित कर दिया था।

Edited By: Prateek Kumar