उमरिया, नई दुनिया। मध्य प्रदेश के उमरिया के मानपुर के कुचवाही गांव में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी के पति जुबीन फरदून ईरानी द्वारा खरीदी गई जमीन स्कूल के नाम दर्ज नहीं है। कुचवाही प्राथमिक शाला के प्रधानाध्यापक जानकी प्रसाद तिवारी द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। एसडीएम मानपुर जेपी यादव ने दस्तावेजों की जांच के बाद जुबीन ईरानी को क्लीन चिट दे दी है। यह भी पता चला है कि जिस कंपनी ने जमीन खरीदी है, उससे केंद्रीय मंत्री के पति का सीधा संबंध भी नहीं है।

मीडिया में मामला आने के बाद जिला प्रशासन ने अपने स्तर पर दस्तावेजों को खंगलना शुरू कर दिया था। कलेक्टर अभिषेक सिंह के आदेश पर मानपुर एसडीएम गुरुवार सुबह आरआइ व पटवारियों के साथ कुचवाही गांव जमीन के रिकॉर्ड लेकर पहुंचे। यादव ने खसरा नंबर 75 की जांच की। सबसे पहले जांच टीम ने कुचवाही गांव के स्कूल की जमीन देखी।

इसके बाद स्मृति ईरानी के पति द्वारा खरीदी गई जमीन की नाप-जोख भी की। जांच के बाद एसडीएम यादव ने बताया कि स्कूल की जमीन रिकॉर्ड में 50 डिसमिल दर्ज है, जो सही है। एसडीएम का कहना है कि खसरा नंबर 75 के भाग एक में स्कूल और भाग दो में पांच एकड़ जमीन है जिसे मार्केज हास्पिटिलिटी हैरिटेज ने खरीदी है। एसडीएम ने जांच के बाद स्पष्ट कर दिया कि बेची गई जमीन स्कूल की नहीं है।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गढ़ घेरने में जुटी भाजपा

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस