मुंबई/तिरुवनंतपुरम, एजेंसियां। केरल (Kerala) के बाद अब महाराष्ट्र (Maharashtra) में जीका वायरस (Zika Virus) का पहला मामला सामने आया है। महाराष्ट्र में जीका संक्रमण का पहला मामला सामने आया है। पुणे निवासी एक महिला को इस वायरस ने चपेट में लिया है। उधर, केरल में दो नए मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 63 हो चुकी है। इस तरह जीका वायरस के मामला एक राज्य के बाद दूसरे राज्य़ में भी सामने आने लगे हैं।

पुणे में महिला जीका वायरस से संक्रमित मिली

पुणे (Pune) जिले की पुरंदर तहसील में एक 50 साल की महिला मरीज में जीका वायरस पाया गया। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने एक बयान में बताया कि महिला में संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे। 50 वर्षीय महिला को जांच रिपोर्ट शुक्रवार को मिली है। उसे जीका के साथ-साथ चिकनगुनिया भी था। एक चिकित्सा दल शनिवार को महिला के गांव बेलसार पहुंचा और सरपंच तथा ग्राम पंचायत सदस्यों से मुलाकात कर उन्हें एहतियाती उपायों के बारे में जानकारी दी।

केरल में दो नए मामलों की पुष्टि

केरल में लगातार जीका वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने शनिवार को बताया कि राज्य में दो और लोगों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है। इसके साथ केरल में कुल 63 लोगों में जीका वायरस पाया गया है। इसमें से तीन सक्रिय मामले हैं।

कैसे फैलता है जीका वायरस, क्या हैं लक्षण ?

जीका वायरस एडीज प्रजाति के मच्छर के काटने से फैलता है। मरीजों में सामान्य तौर पर कोई लक्षण नहीं दिखाई देता। उन्हें बुखार, शरीर दर्द व आंख के संक्रमित होने की समस्या हो सकती है। गर्भवती महिला को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। 80 फीसद जीका संक्रमितों में कोई लक्षण नहीं दिखाई देता। 20 फीसद में फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। ज्यादा पानी पीने, आराम करने और बुखार की दवा लेने से लोग ठीक हो जाते हैं।

Edited By: Shashank Pandey