नई दिल्ली, आइएएनएस। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने विवादास्पद इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक और अमेरिका में रह रहे पाकिस्तानी मूल के दो कट्टरपंथी प्रचारकों को लव जिहाद से जुड़े चर्चित मामले में आरोपित बनाया है। यह मामला चेन्नई के कारोबारी की बेटी और बांग्लादेश के विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के शीर्ष नेता के बेटे की शादी से जुड़ा है। 

जाकिर और पाकिस्तान मूल के दो कट्टरपंथी प्रचारक भी बनाए गए आरोपित

एनआइए भारतीय लड़की और बांग्लादेशी लड़के की लंदन में हुई शादी की जांच कर रही है। लड़की के पिता ने इस साल मई में चेन्नई सेंट्रल क्राइम ब्रांच में एक शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि लंदन में पढ़ रही उनकी बेटी को कट्टरपंथी बनाने के बाद इस्लाम धर्म स्वीकार करने के लिए मजबूर किया गया। पिता का आरोप है कि कुछ बांग्लादेशी उनकी बेटी को लंदन से अपहरण कर बांग्लादेश ले गए। 

चेन्नई के कारोबारी की बेटी के धर्मातरण की जांच कर रही एनआइए

चेन्नई के पुलिस आयुक्त महेश कुमार अग्रवाल ने कहा, 'यह मामला विदेश से संबंधित था इसलिए एनआइए को इसकी जांच सौंपी गई है।' एनआइए की एफआइआर में नामजद किए गए लोगों में जाकिर के अलावा अमेरिका में रहने वाले यासिर काधी और नुमान अली खान भी शामिल हैं। इस मामले में बांग्लादेश के पूर्व सांसद शखवत हुसैन बकुल का बेटा नफीस मुख्य आरोपित है। बकुल को दिसंबर, 2013 में फिरौती मांगने से जुड़े मामले में बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री और बीएनपी प्रमुख खालिदा जिया के आवास से गिरफ्तार किया गया था।

तीन सालों से ज्‍यादा समय से मलेशिया में रह रहा है जाकिर नाइक 

भारत में जब इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक पर कार्रवाई शुरू हुई तो वह विदेश में रहने लगा। पहले वो ब्रिटेन गया, वहां पर उसके व्यवहार की वजह से सरकार ने उसके प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया। तब जाकिर ने मलेशिया का रूख किया। मलेशिया पहुंचने के बाद उसने बीते तीन सालों से अपना ठिकाना बना रखा है। इन दिनों वो मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर से भी कुछ किलोमीटर की दूरी पर शान से रह रहा है। अब मलेशिया भी उससे पीछा छुड़ाना चाह रहा है। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस