नई दिल्ली, [जागरण स्पेशल] साल 2019 अपने अंतिम पड़ाव पर है। इस साल पूरे विश्व में कई ऐसी घटनाएं घटी जिसकी वजह से हमने गौरवान्वित महसूस किया, जिन्हें हम हमेशा याद रखने की कोशिश करेंगे। कुछ ने हमें झकझोर कर रख दिया, जिन्हें हम चाहकर भी नहीं भूला सकते। इन घटनाओं की वजह से देश-दुनिया के इतिहास में कुछ तारीखें दर्ज हो गईं, जो भविष्य में याद की जाएंगी। इन तारीखों से हमें आने वाले समय में यह पता चलेगा कि साल 2019 में कब क्या, कहां और क्यों हुआ। आइए नजर डालते हैं  उन तारीखों पर ...   

देश के इतिहास में दर्ज तारीखें

14 फरवरी 2019 (पुलवामा हमला)- जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। पुलवामा हमले के बाद 12 दिन बाद भारत ने बड़ी कार्रवाई की थी। भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों के ठिकाने को तबाह कर दिया था।

26 फरवरी 2019 की सुबह वायुसेना ने बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के आतंकवादी शिविर पर एयरस्ट्राइक किया। इससे बौखलाए पाकिस्तान ने इसके अगले ही दिन यानी 27 फरवरी को घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय और पाकिस्तानी वायुसेना के बीच डॉग फाइट हुई।

इस दौरान कथित तौर पर पाकिस्तानी विमान F-16 को मार गिराने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में प्रवेश कर गए थे। उनका विमान भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। उन्हें पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था। पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बना। अभिनंदन, पाकिस्तानी कैद में दो दिन तक रहने के बाद वाघा-अटारी सीमा के माध्यम से 1 मार्च को भारत लौटे। 1 मई 2019 को जैश का सरगना मसूद अजहर अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित हुआ। 

 

27 मार्च 2019 (एंटी-सैटेलाइट मिसाइल रखने वाला भारत चौथा राष्ट्र बना)- भारत ने 27 मार्च को मिशन शक्ति को अंजाम दिया। यह एंटी-सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण था। इस परीक्षण के बाद भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है, जो अंतरिक्ष में सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता रखते हैं। भारत के अलावा यह तकनीक केवल अमेरिका, रूस और चीन के पास है। इससे भारत अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम को सुरक्षित रख सकेगा। इसरो और डीआरडीओ के साझा प्रयास से इसे विकसित किया गया है। 

23 मई 2019 (मोदी सरकार की सत्ता में वापसी)- 23 मई 2019 को आम चुनाव के परिणाम घोषित हुए। मोदी सरकार ने ऐतिहासिक जीत के साथ सत्ता में वापसी की। चुनाव में मोदी मैजिक ऐसा चला कि पिछली बार से ज्यादा सीटें जीतकर भाजपा की फिर से सरकार बनी। भाजपा को इस चुानव में 303 सीटें मिली। पीएम मोदी ने भी इतिहास रचा। पीएम मोदी, जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद तीसरे और पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री बन गए जिन्होंने सत्ता में रहते हुए पूर्ण बहुमत की दोबारा सरकार बनाई। इस दौरान निर्मला सितारमण देश की पहली महिला वित्त मंत्री बनीं। 

23 जुलाई 2019 (चंद्रयान 2 लॉन्च)- भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए इस साल की सबसे बड़ी कामयाबी चंद्रयान-2 रहा। चंद्रयान-2 को चांद के साउथ पोल पर लैंड कराना था। इसरो ने श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से 23 जुलाई के दिन चंद्रयान 2 को लॉन्च किया था। 6 सितंबर 2019 को विक्रम लैंडर की साउथ पोल पर हार्ड लैंडिंग हुई। यह मिशन 95 फीसद सफल बताया गया। पूरे विश्व ने भारत और इसरो का लोहा माना। 

30 जुलाई 2019 (तीन तलाक पर प्रतिबंध)- 30 जुलाई 2019 को तीन तलाक बिल राज्यसभा में पास होने का साथ तीन तलाक पर बैन लग गया। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच ने 2017 में तीन तलाक को निरस्त करने का फैसला सुनाया था।

5 अगस्त 2019 (जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए निरस्त)-  जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाला अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को निरस्त करने का मोदी सरकार ने फैसला लिया। सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का भी फैसला लिया। 31 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर दो केंद्रीय शासित प्रदेशों में बंट गया। जम्मू कश्मीर और लद्दाख दो नए केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आ गए।

9 नवंबर 2019 (अयोध्या मामले में ऐतिहासिक फैसला)- तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की पीठ ने अयोध्या मामले में ऐतिहासिक फैसला सुनाया। कोर्ट ने विवादित जमीन को मंदिर के निर्माण के लिए सौंपने का आदेश दिया। कोर्ट ने साथ ही मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही दूसरी जगह मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन देने को कहा।

11 दिसंबर 2019 (नागरिकता संशोधन विधेयक पर मुहर)- नागरिकता संशोधन विधेयक 2019, 11 दिसंबर 2019 के दिन राज्यसभा में पास हुआ। 12 दिसंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मंजूरी मिलने के बाद यह विधेयक कानून में बदल गया। 

विदेश के इतिहास में दर्ज तारीखें

1 जनवरी 2019 (ओपेक समूह से कतर बाहर)- 60 साल तक तेल उत्पादक देशों के समूह (ओपेक) का सदस्य रहने के बाद कतर इससे 1 जनवरी को बाहर हो गया। कतर ने इसका कारण प्राकृतिक गैस उत्पादन को बढ़ाने की योजना बताया।

25 जनवरी 2019 ( अमेरिकी शटडाउन खत्म)- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 35 दिन से जारी शटडाउन को समाप्त करने की घोषणा की। ट्रंप की डेमोक्रेट्स से मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने को लेकर बजट पर सहमति न बनने की वजह से अमेरिका को सबसे बड़ा शटडाउन झेलना पड़ा। ट्रंप ने मेक्सिको सीमा पर सुरक्षा दीवार बनाने के लिए 5.7 अरब डॉलर (करीब 40 हजार करोड़ रुपये) के फंड की मांग की थी।      

15 मार्च 2019 (क्राइस्टचर्च अटैक)- शांत देशों में शुमार न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मजिस्दों डीन एवेन्यु मस्जिद और लिनवुड एवेन्यु मस्जिद में गोलीबारी हुई। इसमें लगभग 50 लोगों की मौत हुई। 

15 अप्रैल 2019 (नोट्रे-डेम चर्च में आग)- पेरिस के 850 साल पुराने नोट्रे-डेम चर्च में 16 अप्रैल को आग लगी। इस घटना में चर्च पूरी तरह तबाह हो गया। 

21 अप्रैल 2019 (ईस्टर अटैक)- श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन आत्मघाती हमला हुआ। राजधानी कोलंबो समेत तीन शहरों में तीन चर्च समेत 6 अलग-अलग जगह हुए धमाकों में 259 लोगों की मौत हो गई।

14 जुलाई 2019 (इंग्लैंड पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड कप विजेता बना)- विश्व कप 2019 का फाइनल लॉर्डस के ऐतिहासिक मैदान पर मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया। पहली बार ऐसा हुआ कि क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल सुपर ओवर तक गया और विजेता का निर्णय बाउंड्री के आधार पर हुआ। 

25 जुलाई (ब्रिटेन का सबसे गर्म दिन)- इस साल 25 जुलाई ब्रिटेन का सबसे गर्म दिन रहा। पड़ोसी देश फ्रांस के पेरिस में तापमान  40.6 डिग्री सेल्सियस पर जा पहुंचा था। पूरे यूरोप में इस साल रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ी। विश्व मौसम संगठन की सालाना रिपोर्ट के अनुसार साल 2010-19 का दशक इतिहास में सबसे गर्म रहा। 40 साल में इस दशक ने गर्मी के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए।

7 सितंबर 2019 ( अमेरिका- अफगानिस्तान शांति वार्ता टूटा)- अमेरिकी कर्मचारी पर तालिबानी हमले की वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किसी समझौते से इन्कार कर दिया। ट्रंप ने यह फैसला आतंकी संगठन तालिबान और अमेरिका के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर होने से ठीक पहले लिया। हालांकि, यह कवायद एक बार फिर शुरू हो गई है। 

18 अक्टूबर (महिलाओं ने स्पेसवॉक की)- अंतरिक्ष में 18 अक्टूबर को एक नया इतिहास बना। इस दौरान दो महिलाओं ने स्पेसवॉक की। अंतरिक्षयात्री क्रिस्टिना कोच और जेसिका मीर स्पेसवॉक करने वाली पहली महिला जोड़ी बन गई। इससे पहले स्पेसवॉक करने वाली टीम में कोई न कोई पुरुष अंतरिक्ष यात्री मौजूद रहा।

27 अक्टूबर (बगदादी मारा गया)- आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) के आका अबु बकर-अल बगदादी के मारे जाने की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पुष्टि की।  

9 नवंबर (करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत)- 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन हुआ।कॉरिडोर भारतीय के पंजाब के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक साहिब को पाकिस्तान के पंजाब के नरोवाल जिले में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारे से जोड़ता है।

28 नवंबर (अमेजन के जंगलों में पेड़ों का रिकॉर्ड सफाया)- अमेजन वर्षावन में जुलाई 2019 तक 10 हजार वर्ग किलोमीटर से अधिक क्षेत्र वन रहित हो गया धरती के फेफड़े कहे जाने वाले अमेजन के वर्षावनों में अगस्त में भीषण आग लगने की खबर सामने आई थी।पिछले एक दशक से ज्यादा वक्त में इतनी बड़ी संख्या में पेड़ों का सफाया कभी नहीं हुआ। ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनारो ने अमेजन जंगल में लगी भयावह आग के लिए जिम्मेदार ठहराया गया। 

 अलविदा 2019: सुर्खियों में रहीं ये घटनाएं

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस