नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली विश्वविद्यालय में परीक्षा के दौरान फिर गलत प्रश्नपत्र बांटा गया है। हिंदी एलायड के तीसरे सेमेस्टर के करीब 700 छात्रों के सामने मंगलवार को तब असमंजस की स्थिति आ गई जब उन्हें हिंदी ऑनर्स का प्रश्नपत्र दे दिया गया। गलत प्रश्नपत्र के कारण परीक्षा स्थगित कर दी गई। कॉलेजों ने इस बारे में जब विश्वविद्यालय प्रशासन से पूछा तो बताया गया कि हिंदी विभाग से प्रश्नपत्र नहीं मिला है। बुधवार को हिंदी विभाग परीक्षा विभाग को नया प्रश्नपत्र मुहैया करा देगा। पांच दिसंबर को फिर से परीक्षा होने की संभावना है।

इस संबंध में हिंदी विभाग ने अपनी गलती मान ली है। विभागाध्यक्ष ने भी स्वीकार किया है कि यह परीक्षा विभाग की गलती नहीं है। विभाग में देर रात प्रश्नपत्र बनाने वाले शिक्षकों की बैठक हुई। बैठक में यह जानने का प्रयास किया गया कि यह चूक कैसे हो गई?

उल्लेखनीय है कि पिछले सात दिनों में यह दूसरी बार है जब परीक्षा के दौरान छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। इससे पहले बीकॉम ऑनर्स के विद्यार्थियों को स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (एसओएल) में पूछे जा चुके बीकॉम ऑनर्स का प्रश्नपत्र दे दिया गया था।

दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्ष संघ की अध्यक्ष डॉ. नंदिता नारायण ने कहा कि इस तरह की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं, जो दुखद है। परीक्षा संबंधी मामलों में काफी गोपनीयता बरती जाती है। दिल्ली विश्वविद्यालय सेमेस्टर प्रणाली का बोझ नहीं सह सकता। शिक्षकों को एक वर्ष में दो परीक्षाएं करानी पड़ती हैं।

पढें - डीयू के पूर्व कुलपति धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार

पढें - यूजीसी-डीयू विवाद में हस्तक्षेप नहीं करेगी केंद्र सरकार

Posted By: Jagran News Network

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस