पुणे, पीटीआई। ईश्‍वरी सिंह विश्‍वकर्मा की खुशी का ठिकाना नहीं है, क्‍योंकि वह एक बच्‍चे की मां जो बन गई हैं। मगर उनके इस अनुभव को जो बात विशेष बनाती है, वो उनका एक ओला कैब में बच्‍चे को जन्‍म देना है। दरअसल, दो अक्टूबर की सुबह कोंढवा की रहने वालीं ईश्वरी को अचानक पेट में दर्द उठा, उसी दौरान उनकी एक रिश्तेदार ने अस्पताल जाने के लिए एक ओला कैब बुलाई।

कुछ मिनटों में ही कैब चालक यशवंत गलांडे वहां पहुंच गए। महिला को कैब में बिठाया गया और अस्पताल की तरफ निकल पड़े। मगर थोड़ी ही देर बाद महिला ने कैब में ही एक बेटे को जन्म दे दिया। इसके बाद पेठ स्थित कमला नेहरू अस्पताल में महिला को एडमिट कराया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद दोनों मां-बेटे को सही-सलामत बताया।

पांच सालों तक फ्री राइड्स का मिला गिफ्ट

21 वर्षीय ईश्‍वरी को एक और जो खुशी मिली, वो ये है कि ओला कंपनी ने अगले पांच सालों के लिए दोनों मां-बेटे के लिए गिफ्ट में फ्री राइड्स का एलान कर दिया।

पिता बने रमेश विश्वकर्मा एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। उन्‍होंने बताया, मेरी पत्नी की संभावित डिलीवरी डेट 24 अक्टूबर थी। मगर 2 अक्टूबर को देर रात से उसे तेज दर्द शुरू हुआ और उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही बच्चे ने जन्म ले लिया। ओला कंपनी की फ्री सर्विस बच्चे के नाम से कूपन द्वारा ली जा सकेगी। कैब कंपनी की इस घोषणा के बाद महिला बहुत उत्साहित है।

यह भी पढ़ें: अब आधे घंटे में होगा कैंसर का इलाज

 

Posted By: Pratibha Kumari