नासिक। दिवंगत भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी और विधायक पंकजा मुंडे ने कहा है कि वह अपने पिता के निधन से खाली हुई बीड संसदीय सीट से उपचुनाव नहीं लड़ेंगी। बीड में उपचुनाव 15 अक्टूबर को पूरे महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के साथ होगा।

संघर्ष यात्रा के दौरान पार्टी

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पकंजा ने कहा, 'मैं बीड़ से लड़ने नहीं जा रही हूं, मैं पूरे महाराष्ट्र में काम करना चाहती हूं।'

मोदी लहर दिलाएगी जीत

पंकजा को उम्मीद है कि मोदी लहर के चलते चुनावों में जनता कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की गठबंधन सरकार को उखाड़ फेंकेगी। उन्होंने कहा कि सिंचाई, बिजली और हाउसिंग स्कीम जैसे विभागों में इस सरकार के सौ से ज्यादा घोटाले सामने आ चुके हैं।

संघर्ष यात्रा को समर्थन

उन्होंने कहा कि मेरी संघर्ष यात्रा को जनता को मिल रहा समर्थन यह दिखाता है कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को जीत दिलाने वाली मोदी लहर अभी कायम है। पंकजा की 14 दिनों की संघर्ष यात्रा महाराष्ट्र के 21 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी।

पंकजा ने कहा कि मेरे पिता ने राज्य के आम आदमी को न्याय दिलाया और किसानों के हित की लड़ाई लड़ी। उनके पिता और केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे की इसी साल तीन जून को दिल्ली में एक कार दुर्घटना में मौत हो गई थी।

पढ़ें: मुंडे परिवार के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारेगी राकांपा

पढ़ें: महाराष्ट्र भाजपा को चाहिए नई पीढ़ी के माधव