हैदराबाद, एजेंसी। जैसे ही शुक्रवार सुबह तेलंगाना के पशु चिकित्सक के साथ दुष्कर्म और फिर उनकी हत्या के आरोपियों के मारे जाने के खबर फैली तो उसके साथ हैदराबाद पुलिस, VC सज्जनार, जस्टिस फ़ॉर दिशा भी ट्रेंड होना शुरू हो गया। इनमें एक नाम खास था और वो वीसी सज्जनार का, जिन्हें एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में भी जाना जाता है। सज्जनार पुलिस आयुक्त हैं। 1996 बैच के एक आईपीएस अधिकारी सज्जनार ने 2008 में एक एसिड हमले के मामले के तीन आरोपियों को गोली मार दी थी। सोशल मीडिया उपयोगकर्ता इस संबंध में 2008 वारंगल एसिड हमले के मामले को भी याद कर रहे हैं। सज्जनार, नक्सल नेता नईमुद्दीन की हत्या में भी अपनी भूमिका के लिए जाने जाते हैं, जब सज्जनार आईजी स्पेशल इंटेलिजेंस ब्रांच थे। 

2008 Warangal acid attack case

2008 में वारंगल एसिड अटैक भी चर्चा में आया था। उस दौरान सज्जनार वारंगल के एसपी थे। बता दें कि इस केस में भी तब लड़की पर एसिड फेंकने वाला को एनकाउंटर में मार गिराया गया था। यह तब हुआ जब आरोपी एस श्रीनिवास राव ने दो दोस्तों के साथ मिलकर इंजीनियरिंग छात्रा पर एसिड फेंका था। इसके पीछे की वजह श्रीनिवास का प्रपोजल ठुकरा देना था। फिर उस दौरान भी समाज गुस्से से भर गया, जहां सज्जनार की अगुआई में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, कुछ घंटे बाद आरोपी एनकाउंटर में मारे गिराए गए थे।

अब का घटनाक्रम

तेलंगाना में वेटनरी डॉक्टर की हत्या और सामूहिक दुष्कर्म के चारों आरोपी शुक्रवार तड़के एनकाउंटर में मारे गिराए गए। अब भी साइबराबाद कमिश्नर वीसी सज्जनार की अगुआई में पुलिस की एक टीम आरोपियों को लेकर घटनास्थल पर पहुंची थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी रीक्रिएशन के दौरान पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भाग रहे थे। इसी दौरान क्रॉस फायरिंग में चारों मारे गए। हालांकि, अब इस एनकाउंटर पर सवाल भी उठने लगे हैं।

सोशल मीडिया पर लोग दे रहे बधाई

बता दें कि हैदराबाद व देश भर में लोग इसे लेकर खुशी मना रहे हैं। वहीं संबंधित जगह पुलिस वालों पर फूल बरसाए जा रहे हैं। मिठाई खिलाई जा रही है। हालांकि, अब मानवाधिकार का मुद्दा भी ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021