नई दिल्ली/जेनेवा, प्रेट्र। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक डाक्टर टेड्रोस अदनोम घेब्रेयेसस के बीच मंगलवार को कई मुद्दों को लेकर बातचीत हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने WHO)के महानिदेशक के साथ स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ भारत सरकार द्वारा उठाए गए टीकाकरण के बृहद् प्रयासों की सराहना की है। भारत में बुधवार सुबह 8 बजे तक कोविड-19 टीकों की 99 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं और देश 100 करोड़ खुराक लगाए जाने का आंकड़ा पार करने वाला है। केंद्र ने राज्यों से अपील की है कि टीके की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता को देखते हुए वे दूसरी खुराक लगाने पर ध्यान केंद्रित करें।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्येयियस ने स्वास्थ्य मंत्री मनसुख के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान भारत बायोटेक की कोविड-19 वैक्सीन, कोवैक्सीन के वैश्विक स्तर पर आपातकालीन इस्तेमाल के मुद्दे पर भी चर्चा की। इसके साथ ही इस टेलीफोन बातचीत में कोवैक्स सुविधा के लिए सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया द्वारा निर्मित एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की आपूर्ति को फिर से शुरू करने के मुद्दे पर चर्चा की गई। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट किया- WHO के महानिदेशक डॉ टेड्रोस के साथ स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर विस्तृत बातचीत हुई। इस दौरान WHO के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। कोविड-19 टीकाकरण में भारत सरकार के बृहद् प्रयासों की WHO के महानिदेशक ने प्रशंसा की है।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि हमने 99 करोड़ खुराक लगा दी है। हम कोविड-19 टीकाकरण में 100 करोड़ का आंकड़ा पार करने वाले हैं।

घेब्रेयसस ने मंगलवार को ट्वीट किया कि भारत में चल रहे COVID19 टीकाकरण कार्यक्रम पर चर्चा करने के लिए भारत के स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया के साथ एक कॉल किया था। एक वैश्विक महामारी समझौते की आवश्यकता; डिजिटल स्वास्थ्य; पारंपरिक औषधि। हम WHO सहित सभी को मजबूत करने के लिए भारत के समर्थन का स्वागत करते हैं।

Edited By: Shashank Pandey