श्योपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। 9 जुलाई को बड़ौदा के एक गांव में 14 साल की बालिका के साथ मनचलों ने दुष्कर्म का प्रयास किया। किसी तरह उनके चंगुल से बची बालिका ने डर के मारे तीन दिन तक किसी को कुछ नहीं बताया, लेकिन घटना के तीसरे दिन बालिका के भाई के मोबाइल पर वीडियो आया तो परिवार में हड़कंप मच गया। इसके बाद बालिका ने आपबीती सुनाई, तब मामला पुलिस तक पहुंचा।

पुलिस ने शिकायत के 24 घंटे के भीतर ही दोनों आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया। 9 जुलाई की दोपहर 14 साल की बालिका 11 साल की छोटी बहन के साथ खेत पर लगे जामुन के पे़ड़ की रखवाली कर रही थी। इसी दौरान गांव का रामू माली अपने दोस्त अमन धाकड़ के साथ जामुन खरीदने के बहाने बालिका के खेत पर पहुंच गया। रामू बालिका का मुंह दबाकर नाले के पास ले गया। नाले के पास रामू ने बालिका से दुष्कर्म का प्रयास किया। इस बीच अमन धाकड़ मोबाइल से वीडियो बना रहा था।

बालिका ने संघर्ष करते हुए खुद को बचा लिया। इस घटना का जिक्र बालिका ने परिवार में किसी से नहीं किया। उधर, दुष्कर्म करने में दोनों आरोपी सफल नहीं हुए तो अमन ने वीडियो वायरल कर दिया। पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि दोनों मनचले वीडियो बनाकर बालिका को ब्लैकमेल करके लंबे समय तक उसका शोषण करने की प्लानिंग बनाए थे।

Posted By: Arun Kumar Singh