नई दिल्‍ली, पीटीआइ। खेती किसानी को लेकर मानसून के शुरुआती संकेत बेहद अच्‍छे नजर आ रहे हैं। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून सोमवार को अंडमान निकोबार द्वीप समूह (Andaman and Nicobar islands) में और आगे बढ़ गया है। मौसम विभाग का कहना है कि चार महीने की मौसमी बारिश की शुरुआत का संकेत बेहद अच्‍छे नजर आ रहे हैं। यह काफी हद तक कृषि पर निर्भर हमारी अर्थव्यवस्था के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

मौसम कार्यालय ने कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और आसपास के इलाकों में दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के मजबूत होने के कारण बारिश हो रही है। मौसम विभाग की मानें तो दक्षिण पश्चिम मानसून के अगले दो से तीन दिनों के दौरान दक्षिण बंगाल की खाड़ी के कुछ और हिस्सों, पूरे अंडमान सागर और अंडमान द्वीप समूह और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां बेहद अनुकूल हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक लक्षद्वीप और उत्तरी तमिलनाडु तट पर चक्रवाती परिसंचरण की उपस्थिति से अगले पांच दिनों के दौरान केरल, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के विभिन्‍न इलाकों में गरज चमक के साथ भारी से बहुत भारी बारिश होने की उम्मीद है। मौसम कार्यालय ने कहा कि तमिलनाडु में सोमवार से बुधवार तक और लक्षद्वीप क्षेत्र में अगले दो दिनों में भारी बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार को तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में भी बहुत भारी बारिश की संभावना है। सनद रहे पिछले हफ्ते मौसम विभाग ने कहा था कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 27 मई तक केरल पहुंचने की उम्मीद है। चक्रवात आसनी के कारण उत्पन्न अनुकूल मौसमी परिस्थितियों के चलते यह पहली जून की सामान्य शुरुआत की तारीख से पांच दिन पहले ही केरल में दस्‍तक देने वाला है। 

मौसम विभाग (India Meteorological Department) की मानें तो राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्‍ली में गरज चमक के साथ छींटे पड़ने और आंधी चलने का अनुमान है। इससे तापमान में गिरावट आएगी जिससे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिल सकती है। यही नहीं पंजाब और हरियाणा में भी चक्रवाती परिसंचरण के चलते मानसून पूर्व की गतिविधियां सक्रिय हो सकती हैं। इससे मंगलवार को लोगों को भीषण गर्मी से थोड़ी राहत मिलने के आसार हैं।

Edited By: Krishna Bihari Singh