नई दिल्ली, जेएनएन। नई दिल्ली, जेएनएन। पूरे उत्तर भारत में सर्दी का कहर जारी है और अभी इससे राहत मिलने के आसार भी नहीं लग रहे। ठिठुरन भरी ठंड का आलम यह है कि रविवार को राजधानी दिल्ली में अधिकतम तापमान ने पिछले एक दशक का रिकार्ड तोड़ दिया। 24 जनवरी का दिन 10 सालों में सबसे सर्द रहा। सुबह घने कोहरे के कारण दृश्यता का स्तर 100 मीटर तक रहा। इससे यातायात प्रभावित हुआ।

रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 15 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 8.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पूर्व 2012 से अभी तक 24 जनवरी की तारीख का यह सबसे कम अधिकतम तापमान है। 2012 में यह 20.2 डिग्री सेल्सियस रहा था। रिज एरिया रविवार को सबसे ठंडा रहा, जहां का अधिकतम तापमान 14.3 डिग्री सेल्सियस था। हवा में नमी का स्तर 84 से 100 फीसद दर्ज हुआ।

ठंड और कोहरे का दौर रहेगा जारी

मौसम विभाग के अनुसार अभी ठिठुरन भरी ठंड और कोहरे का दौर जारी रहेगा। जहां तक सोमवार का पूर्वानुमान है तो आसमान साफ रहेगा। सुबह घना कोहरा होगा। कुछ इलाकों में ज्यादा ठंडक हो सकती है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 17 और छह डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

वहीं, स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि ठिठुरन भरी इस ठंड अभी सप्ताह भर तक निजात मिलने के आसार नहीं हैं। अभी किसी पश्चिमी विक्षोभ के आने की संभावना भी नहीं है। उन्होंने बताया कि उत्तर पश्चिमी हवाओं के साथ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र की बर्फबारी का असर लगातार दिल्ली तक पहुंच रहा है।

पंजाब के कई जिलों में छाए रहे बादल

वहीं, दूसरी ओर वेस्टर्न डिस्टर्बेंस सक्रिय होने के कारण रविवार को पंजाब के कई जिलों में दिनभर बादल छाए रहे। शीतलहर ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया। कई जिलों में सूर्य देव के दर्शन नहीं हुए, जिससे दिन के तापमान में पांच से छह डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दिखी। आइएमडी चंडीगढ़ के मुताबिक रविवार को पटियाला में न्यूनतम तापमान 8.6 डिग्री और अधिकतम तापमान 14.0 डिग्री रिकार्ड किया गया। चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 11.2 डिग्री और अधिकतम तापमान 14.5 डिग्री रहा। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप