नई दिल्ली, एजेंसी। देश के कई हिस्सों में भारी बारिश के बीच अब उत्तर भारत के मैदानी इलाकों और पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश की गतिविधियां बढ़ेंगी। मौसम विभाग के मुताबिक कोंकण, गोवा और पास में महाराष्ट्र के अंदरूनी इलाकों सहित पश्चिमी तट तेज बारिश से राहत मिलने के आसार है। पिछले कुछ दिनों में महाराष्ट्र में भारी बारिश ने कई लोगों की जान ले ली है तथा कई इलाके पूरी तरह डूब गए और संपत्ति को नुकसान पहुंचा है।

मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों के कई अन्य राज्यों में आज यानि रविवार से बारिश की गतिविधि बढ़ने की भविष्यवाणी की है। आईएमडी ने मध्य प्रदेश के 24 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा कि जुलाई तक गुजरात में तेज बारिश होने की संभावना है और कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है और इसके बाद बारिश में कमी के आसार हैं। उसके मुताबिक, पूर्वी राजस्थान में 26 जुलाई तक तेज बारिश होने के आसार हैं जबकि कुछ-कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना है और इसके बाद वर्षा कम होगी।

आईएमडी ने बताया कि 25 से 28 जुलाई के दौरान उत्तराखंड में बारिश होने की संभावना है और कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। वहीं हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 26-28 जुलाई को और पंजाब तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश में 27-28 जुलाई को बारिश के आसार हैं। उसने कहा कि 27 और 28 जुलाई को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कहीं-कहीं अत्याधिक भारी बारिश हो सकती है।

दिल्ली में हल्की बारिश के बूंदाबांदी की संभावना

मौसम विभाग ने दिल्ली में रविवार को हल्की बारिश अथवा बूंदाबांदी के साथ आसमान में बादल छाए रहने की संभावना जताई है। जबकि 26 जुलाई के लिए दिल्ली में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। उत्तर प्रदेश में शनिवार को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई और गरज के साथ बौछारें पड़ीं, राज्य के पूर्वी हिस्से में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश हुई। रविवार को भी राज्य में कुछ ऐसी ही स्थिति बनी रहने का अनुमान है।

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आज तेज बारिश की संभावना

यूपी में शनिवार को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई और गरज के साथ बौछारें पड़ीं, राज्य के पूर्वी हिस्से में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश हुई। रविवार को भी राज्य में कुछ ऐसी ही स्थिति बनी रहने का अनुमान है। मौसम विभाग का अलर्ट है कि इस माह 25 जुलाई से 27 जुलाई तक झमाझम व भारी बारिश होगी। आकाशीय बिजली का बड़ा खतरा है। कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें तो कहीं हल्की से सामान्य बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

राजस्थान में 27 जुलाई तक बारिश के आसार

राजस्थान में भी कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई और राज्य के पूर्वी हिस्से में 27 जुलाई तक बारिश होने की संभावना है। जयपुर स्थित मौसम विभाग कार्यालय ने कहा कि झालावाड़ के पिरावा में पिछले 24 घंटे की अवधि में 21 सेंटीमीटर रिकॉर्ड अत्यधिक भारी बारिश दर्ज की गई। पीपलदा (कोटा) और मलसीसर (झुंझुनू) में समान अवधि के दौरान आठ-आठ सेमी बारिश हुई।

भोपाल व इंदौर सहित कई जिलों में भारी बारिश के आसार

कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश और उससे लगे छत्तीगढ़ पर बना हुआ है। इस सिस्टम के प्रभाव से पूरे प्रदेश में रुक-रुककर बरसात हो रही है। शनिवार को भी कई क्षेत्रों में बारिश जारी रही। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि रविवार-सोमवार को सागर, भोपाल, जबलपुर, इंदौर, उज्जैन और ग्वालियर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश भी हो सकती है। मध्य प्रदेश के 24 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। आईएमडी के मुताबिक, मध्य प्रदेश के जबलपुर, रीवा, सतना, अनूपपुर, उमराई, डिंडोरी, कटनी, नरसिंहपुर, मंडला, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, विदिशा, सीहोर,राजगढ़, बैतूल, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, धार, देवास, आगर मालवा, अशोक नगर और शिवपुरी जिले में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।

Edited By: Sanjeev Tiwari