नई दिल्ली, जेएनएन। देश के कई राज्य इनदिनों बाढ़ की चपेट में है। बाढ़ की वजह से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। उत्तराखंड, गुजरात, बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, ओडिशा में आये जलप्रलय से अब तक 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 12 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं। यहीं नहीं मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के भी कई जिलों में हाई अलर्ट जारी किया है। कई राज्यों में तो मौसम विभाग ने आरेंज अलर्ट जारी किया है। बारिश और बाढ़ से आधे हिंदुस्तान में कोहराम मचा हुआ है।

कर्नाटक में बाढ़ की वजह से 58 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। 15 लोग फिलहाल लापता हैं। कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र (केएसएनडीएमसी) ने यह आंकड़े जारी किए हैं। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने केरल के कुछ राज्यों को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। केरल के मलप्पुरम, कोझिकोड, और कन्नूर के लिए आज के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है।

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि केरल में बाढ़ के कहर के चलते अपनी जान गंवाने वाले परिवारों की आर्थिक मदद की जाएगी। उन्हें 4 लाख रुपए के मदद की बात सीएम ने कही है। वहीं राज्य सरकार ने बाढ़ प्रभावित परिवारों को 10,000 रुपये की तत्काल सहायता देने का फैसला किया है।

मध्य प्रदेश के एक क्षेत्र में भारी बारिश के बाद बीती रात मंदसौर जिले के एक गांव में बाढ़ का पानी घुस गया।वहीं विजयवाड़ा के कृष्णा नदी पर पुलिचिंतला परियोजना से जलाशय तक पहुँचने वाले बाढ़ के विशाल प्रवाह के साथप्रकाशम बैराज के 70 शिखरों को हटा दिया गया है।

केरल में बाढ़ से सबसे ज्यादा तबाही हुई है। बाढ़ के बाद से ही वहां हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। रल में बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में 8 अगस्त से अब तक 95 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 34 लोग घायल हुए हैं। वहीं 59 लोग लापता बताए जा रहे हैं।

कर्नाटक के मंगलुरु में नानथूर के पास एक स्कूल बस पर एक पेड़ गिर गया। बस में 17 बच्चे मौजूद थे। हालांकि इस हादसे में सभी बाल-बाल बच गए।

महाराष्ट्र के पुणे संभाग के सभी पांच जिलों (सांगली, कोल्हापुर, सतारा, पुणे और सोलापुर) में बाढ़ के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 48 हो गई, 3 लोग अभी भी लापता हैं। मध्य प्रदेश के मंदसौर में भारी बारिश से निचले इलाकों में जलभराव हो गया है। वहीं छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में केलो नदी क्षेत्र में लगातार भारी बारिश की वजह से हालात बेकाबू हो रहे हैं। प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है।

कांकेर- उफनती नदी में फंसे 7 ग्रामीण, बचाव अभियान जारी 
छत्तीसगढ़ के कांकेर में जिला मुख्यालय से करीब सौ किलोमीटर दूर परतापुर क्षेत्र में मछली पकड़ने के लिए गए सात ग्रामीण बीते 24 घंटे से उफनती नदी के बीच फंसे हैं। बचाव कार्य के लिए मुख्यालय से रेस्क्यू टीम रवाना हो गई है। नदी का पानी लगातार बढ़ता जा रहा है। इससे जोखिम बढ़ता जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार परतापुर थाना क्षेत्र के ग्राम चंदनपुर पीवी-71 के ग्रामीण मछली पकड़ने के लिए बागदरहा टापू पर गए हुए थे।

केरल में ऑरेंज अलर्ट जारी
केरल के 14 जिले बाढ़ की चपेट में हैं। इनमें से छह जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मलप्पुरम जिले में स्थित कवलप्पारा व पुथुमाला गांव और वायनाड जिला सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। यहां अब तक 95 लोगों की मौत हो चुकी है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक दक्षिण केरल में अगले दो दिनों में भारी बारिश होने की संभावना है।

महाराष्ट्र में अबतक 48 की मौत
यहां मरने वालों की संख्या बढ़कर 48 हो गई। जबकि लगभग 4.48 लाख लोगों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से निकाला जा चुका है, जिसमें कोल्हापुर और सांगली से 4.04 लाख लोग शामिल हैं। सभी को राहत शिविरों में सुरक्षित भेज दिया गया है।

ओडिशा में उफान पर नदियां
राजधानी भुवनेश्वर समेत पूरे राज्य में हो रही लगातार बारिश से एक तरफ जहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है तो वहीं दूसरी तरफ मालकानगिरी जिले में बाढ़ की स्थिति ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। जिले से होकर गुजरने वाली कुछ नदियों का जलस्तर बढ़ जाने से निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कंधमाल और गंजम जिले में भी भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर आ गई हैं और सैकड़ों लोग पानी के घेरे में आ गए हैं।

गुजरात में आफत की बाढ़
पिछले पांच दिनों में बारिश से संबंधित घटनाओं में लगभग 31 लोग मारे गए हैं। कच्छ जिले में बाढ़ में फंसे 125 लोगों को भारतीय वायुसेना द्वारा बचाया गया।

उत्तराखंड में भूस्खलन
पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के चमोली जिले के तीन अलग-अलग गांवों में भूस्खलन में एक महिला और उसकी नौ महीने की बेटी सहित छह लोग जिंदा दफन हो गए। बाढ़ से घिरे चुफलागड़ नदी के पानी के बहाव में दो इमारतें बह गईं।

अन्य राज्यों में बाढ़ का खतरा
बाढ़ को लेकर मध्य प्रदेश के 28 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। राजस्थान में भी कुदरत का कहर बरपा है। छत्तीसगढ़ के बस्तर में भारी बारिश के बाद बाढ़ का कहर है। कई इलाकों का संपर्क जिला मुख्यालय से कट गया है। गोवा के भी कई इलाकों में भारी बारिश के बाद बाढ़ के हालात हैं।

Posted By: Shashank Pandey