नई दिल्ली, एजेंसियां। देश में कोरोना वायरस के मामले हर दिन के साथ एक नया रिकॉर्ड बना रहे हैं। कोरोना महामारी दुनिया के लिए मुसीबत बनी हुई है। सभी सरकारें इससे पार पाना चाह रही हैं और ऐसे में सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसा ही हाल भारत का है, यहां भी तमाम कदम कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे हैं। हालांकि, इस दौरान बारिश भी प्रशासन के सामने चुनौती बनी हुई है। भारी बारिश से देश के कई इलाकों में हाल खराब है। कई जगहों पर बाढ़ आई हुई है, ऐसे में बाकी सभी तरह की व्यवस्था भी कर पाना मुश्किल हो गया है। वहीं, अभी भी मौसम खराब ही रहेगा। मौसम विभाग द्वारा काफी इलाकों में भारी से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि पहले से ही देश में मौसम खराब है, ऐसे में बारिश के पूर्वानुमान से सभी को अलर्ट हो जाना चाहिए। 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आने वाले पांच दिनों का मौसमी बुलेटिन जारी किया है। विभाग द्वारा कुछ जगहों पर आंधी-तूफान का भी पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विभाग 27 जुलाई को हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और असम और मेघालय में पृथक स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना जताई है। इसके अलावा बिहार, उत्तराखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर बिजली के साथ-साथ तेज आंधी की संभावना है।

वहीं, झारखंड, ओडिशा, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम और त्रिपुरा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम और तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल के अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने के साथ-साथ गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।

मौसम विभाग ने 31 जुलाई तक उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और असम और मेघालय में पृथक स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, बिहार, झारखंड, ओडिशा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम और त्रिपुरा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, रायलसीमा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल और केरल और माहे के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना जताई है।

उत्तर प्रदेश की इन शहरों में IMD का अलर्ट

बुलंदशहर, सम्भल, संत कबीर नगर, महाराजगंज, लखीमपुर खीरी जिलों और आसपास के क्षेत्रों में अलग-अलग स्थानों पर अगले तीन घंटों (सुबह 9:30 बजे तक) के दौरान बारिश / गरज और बिजली गिरने की बहुत संभावना है। बता दें कि मौसम विभाग द्वारा यह ट्वीट प्रात काल में किया गया था।

स्काइमेट ने जारी किया मौसमी सिस्टम

मौसम की जानकारी देने वाली संस्था स्काइमेट ने देश भर में बने मौसमी सिस्टम के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस समय मानसून की अक्षीय रेखा बीकानेर, अजमेर, गुना, सीधी, डाल्टनगंज होते हुए पूर्वोत्तर भारत में त्रिपुरा तक बनी हुई है।

वहीं, एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र कर्नाटक के तटीय भागों के पास अरब सागर के मध्य-पूर्वी हिस्सों पर बना हुआ है। कर्नाटक के तटीय हिस्सों से केरल के तटों तक एक ट्रफ बनी हुई है।

इसके अलावा मध्य राजस्थान पर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बन गया है। दक्षिणी गुजरात पर बने चक्रवाती सिस्टम से एक ट्रफ रेखा पंजाब तक बनी हुई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस