नई दिल्ली, एएनआइ/जेएनएन। 7 दिनों की देरी के बाद आखिरकार केरल में 8 जून को मानसून पहुंच ही गया। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मानसून के आगमन के लिए सभी स्थितियां शुक्रवार को ही अनुकूल बन गई थीं।

LIVE UPDATES...

तिरूवनंतपुरम में भी मौसम ने करवट ली है।

केरल के कोझिकोड में तेज बारिश से मौसम सुहाना हो गया है।

मॉनसून के आगमन के साथ ही अब भारत के मुख्य भूभाग पर मॉनसून का 4 महीनों लंबा सफर शुरू हो गया है।पूर्वोत्तर भारत में भी मौसम की स्थिति मॉनसून पैटर्न के लगभग अनुकूल बनी हुई है और यहां आने मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनों के दौरान राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और विदर्भ में गर्मी की स्थिति और ज्यादा गंभीर होने की संभावना है।

दक्षिणी अरब सागर, लक्षद्वीप क्षेत्र और केरल के बाकी हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल हैं। अगले 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु के कुछ और हिस्से जैसे कि दक्षिण-पश्चिम, दक्षिण-पूर्वी,मध्य पूर्वी, उत्तर पूर्वी, बंगाल की खाड़ी और मध्य अरब सागर और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्से बंगाल में दिख सकती है। इसी दौरान पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में भी दक्षिण-पश्चिम मानसून की प्रगति के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल होती जा रही हैं।

राजस्थान में सोने-चांदी से ज्यादा पानी की सुरक्षा
राजस्थान के धौलपुर में जारी हीटवेव की वजह से पारा 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यहां पानी का संकट गहराता जा रहा है। प्रदेश के 9 जिले भयंकर सूखे की चपेट में है। पानी को लेकर इस कदर हाहाकार मचा हुआ है कि कई शहरों और कस्बों में तीन से पांच दिन में पानी की आपूर्ति की जा रही है। पानी के संकट से जुझ रहे भीलवाड़ा जिले के कई गांवों और कस्बों में पानी को ताले में बंद करके रखा जा रहा है। यहां पर कई लोग गर्मी के आगे अपना दम तोड़ चुके है।

मध्यप्रदेश में बंदरों की मौत का सिलसिला बरकरार
मध्य प्रदेश में पंजापुरा रेंज के जंगली इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी की वजह से बीते 5-6 दिनों में नौ बंदरों की मौत हो चुकी है। पेड़ों का खात्मा और बूंद-बूंद को तरस रहे जानवार भी इस कलयुग को नहीं झेल पा रहे। वहीं, डॉक्टरों ने बंदरों की मौत पर बताया कि हीट स्ट्रोक के बाद कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया, जिस कारण बंदरों की मौत हो गई।

बाकी राज्य भी बेहाल
हिमाचल को दस तक खूब सताएगी गर्मी। हरियाणा में भी पारा 42.4 डिग्री सेल्सियस पार, नहीं राहत के कोई आसार। चंडीगढ़ में 10 और 11 जून को बारिश के आसार हैं, लेकिन उससे पहले एक बार फिर 42 से 44 डिग्री तक की गर्मी झेलनी होगी। उत्तराखंड में भी अभी और रुलाएगी गर्मी। उत्तरप्रदेश में गर्मी ने किया बेहाल, बोला मौसम विभाग 10 जून तक गर्मी से नहीं मिलेगी राहत।

दिल्ली में 44 डिग्री सेल्सियस
मौसम में आंशिक उतार चढ़ाव के बीच दिल्ली में गर्मी से फिलहाल राहत मिलने के कोई आसार नहीं हैं। आसमान साफ रहने से तापमान भी बढ़ेगा और इस सप्ताह वापस अधिकतम तापमान जहां 44 डिग्री सेल्सियस, वहीं न्यूनतम 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के आसार हैं।

भारतीय मौसम विभाग (INDIA METEOROLOGICAL DEPARTMENT) का अनुमान है कि शनिवार को आसमान साफ रहेगा और गर्मी तेजी से बढ़ेगी। अधिकतम तापमान 42, जबकि न्यूनतम 28 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है। कहीं-कहीं गर्म हवा के थपेड़े भी लोगों को सहने पड़ सकते हैं।

गुजरात में भीषण गर्मी, अहमदाबाद में रेड अलर्ट घोषित
गुजरात में भीषण गर्मी पड़ रही है। गर्मी का पारा 45 डिग्री के पार पहुंच गया है। मौसम विभाग ने रविवार को गर्मी बढ़ने की संभावना व्यक्त की है। जिसके चलते अहमदाबाद महानगर पालिका ने रविवार को रेड अलर्ट घोषित किया है और कन्स्ट्रक्शन साइटों पर दोपहर 12 से 4 बजे के दौरान काम बंद रखने का आदेश दिया है। प्रदेश में पिछले एक हप्ते से तापमान 42 से 45 डिग्री छू रहा है। सूरज उगने के साथ ही लोगों को गर्मी का अहसास हो रहा है।

मौसम विभाग के निदेशक जंयता सरकार ने बताया कि शुक्रवार को उत्तगुजरात में गर्मी ने पिछले 8 साल रिकार्ड तोड़ दिया था। यहां राजस्थान की ओर से आ रही गर्म हवाओं के चलते लोग परेशान हो गये। यहां पाटन में रिकार्ड 45.3 डिग्री तापमान दर्ज हुआ । शनिवार को भी अधिकाँश के शहरों में गर्मी का पारा भी 42 से 45 डिग्री के पार दर्ज हुआ है। राज्य की राजधानी गांधीनगर में 45.1 डिग्री, अहमदाबाद 44 डिग्री, सुरेन्द्र नगर में 45.2 डिग्री , इडर में 45 डिग्री, वड़ोदरा में 43.4 डिग्री, पाटण से 44.6 दर्ज हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को गर्मी का पारा बढ़ने की संभावना है। जिससे चलते मनपा ने रविवार को रेड अलर्ट घोषित किया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora