नई दिल्ली, एजेंसी। देश के कई राज्यों में फिर से झमाझम बारिश हो रही है। दिल्ली-एनसीआर में आज से बारिश का नया दौर शुरू होने वाला है। मौसम विभाग ने बुधवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। साथ ही उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्‍थान के कई इलाकों में भारी बारिश का अनुमान है। दिल्ली में अगले 4 दिन हल्की से मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान है। आईएमडी ने दिल्ली के लिए बुधवार को 'ऑरेंज' अलर्ट जबकि अगले 3 दिन के लिए 'येलो' अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के ताजा पुर्वानुमान के मुताबिक उत्तरी दिल्ली, उत्तर-पश्चिम दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के नरेला, बवाना, अलीपुर, कंझावाला, रोहिणी, बडिली, मुंडका, पश्चिम विहार, जफरपुर, नजफगढ़, द्वारका, पालम, आईजीआई एयरपोर्ट के कुछ स्थानों पर और आसपास के क्षेत्रों में हल्की तीव्रता की बारिश होगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने ट्वीट कर कहा कि हरियाणा के करनाल, पानीपत, गोहाना, गन्नौर, सोनीपत, रोहतक, खरखौदा, चरखी दादरी, मट्टनहेल, झज्जर, लोहारू, फारुखनगर, कोसली, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, नारनौल, बावल के आसपास के क्षेत्रों में हल्की से मध्यम तीव्रता के साथ गरज के साथ बारिश होगी। वहीं पश्चिम उत्तर प्रदेश के गंगोह, शामली, मुजफ्फरनगर, कांधला, बड़ौत, बागपत, खेकरा, मुरादाबाद, रामपुर, मिलक, बरेली, सहसवां, बदायूं, खैर, बरसाना, राया, मथुरा, गाजियाबाद, पिलाखुआ, टूंडला, आगरा व राजस्थान के पिलानी, भिवाड़ी, झुंजुनू, खैरथल, कोटपुतली, नगर, डीग, नदबई, महावा, महानीपुर बालाजी, बयाना व आसपास के क्षेत्रों में कुछ ही देर में हल्की बारिश होगी।

स्काईमेट वेदर के मुताबिक अगले 24 घंटे के दौरान पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, विदर्भ, मराठवाड़ा, कोंकण, गोवा, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, राजस्थान और गुजरात के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान के शेष हिस्सों, सौराष्ट्र और कच्छ, मध्य प्रदेश, बिहार के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश, तटीय तमिलनाडु और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।

अभी नहीं होगी मानसून की विदाई

बता दें कि वैसे सितंबर में इस समय तक मानसून के विदाई की वेला होती है। लेकिन इस साल लगातार बनने वाले सिस्टम के कारण सितंबर अंत तक मानसून के जाने की संभावना नहीं दिखाई दे रही  है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि सितंबर के मध्य तक मानसून की वापसी होने लगती है। वेदर सिस्टम कम बनते हैं। हवाओं का रुख भी बदलने लगता है, लेकिन इस बार एक के बाद एक वेदर सिस्टम बनने से मानसून अभी तक सक्रिय है। इस समय बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बन गया है जो पश्चिम बंगाल में पहुंच चुका है जो आगामी दो-तीन दिन में झारखंड, छत्तीसगढ़ से होते हुए प्रदेश से गुजरेगा। उसके बाद 25 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में एक अन्य कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिल रहें है। लगातार बनने वाले सिस्टम की वजह से सितंबर अंत तक वर्षा की गतिविधियां जारी रहेंगी। इस दौरान में कहीं-कहीं तेज वर्षा भी हो सकती है।

Edited By: Sanjeev Tiwari