नई दिल्ली, एजेंसी। राजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत में फिलहाल ठंड से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। वहीं, कड़ाके की ठंड से जूझ रहे हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और पंजाब के लोगों के लिए इस हफ्तें राहत की उम्मीद नहीं है। आगामी 2 दिनों तक राजधानी दिल्ली समेत इन सभी इलाकों में शीतलहर जारी रहेगी। 21 और 22 जनवरी को बारिश के बाद राजधानी में एक बार फिर से ठंड बढ़ सकती है। जनवरी में मौसम का उतार-चढ़ाव जारी रहेगा।। इसकी वजह यह है कि मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश से लेकर दिल्ली और पश्चिम उत्तर प्रदेश तक में 21 जनवरी से आगामी 3 दिनों तक बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं, मौसम विभाग के अनुसार 21 जनवरी से 23 जनवरी तक 3 दिन हल्की बूंदाबांदी और गरज-चमक के आसार हैं। हालांकि मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा।

दरअसल, मौसम विभाग के मुताबिक आगामी 3 दिन सुबह के समय हल्का कोहरा देखने को मिल सकता है। वहीं दिन के समय हल्के बादल देखने को मिल सकते हैं। इस दौरान हवा अपने साथ हिमपात वाले हिस्से से बर्फीली ठंड लेकर आएगी। हालांकि राहत वाली बात यह होगी कि हवा के चलते प्रदूषण में कमी देखने को मिल सकती है। ऐसे में राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों के लोग बीते 4 दिन से भीषण सर्दी का सामना कर रहे हैं। जहां पर कोहरे की मोटी परत और बादलों के चलते बहुत कम समय के लिए धूप निकल रही है।

राजधानी में बढ़ेगा न्यूनतम तापमान, गलन से अभी नहीं मिलेगी राहत

बता दें कि मौसम विभाग के अनुसार भारत के उत्तरी हिस्से में आने वाले पश्चिमी विक्षोभ के चलते राजधानी दिल्ली में भी न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ के चलते दिल्ली में न्यूनतम तापमान में 2 डिग्री तक बढ़ने की संभावना है। यह 10 डिग्री से ऊपर पहुंच सकता है। वहीं, दिन के समय कड़ाके की सर्दी और गलन बनी रहेगी। जहां सोमवार के दिन भी दिल्ली के कई इलाकों में शीत लहर जैसी स्थिति बनी रही। ऐसे में सोमवार को सफदरजंग मौसम केंद्र में अधिकतम तापमान 16.1 डिग्री दर्ज हुआ, जो सामान्य से 4 डिग्री कम है। वहीं, न्यूनतम तापमान 8.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 2 डिग्री ज्यादा है।

Edited By: Sanjeev Tiwari