जालना। मनसे प्रमुख के काफिले पर मंगलवार रात अहमदनगर में राकांपा कार्यकर्ताओं द्वारा पथराव के बाद मुंबई, ठाणे सहित कई इलाकों में फैले तनाव के बीच राज ठाकरे और राकांपा नेता व महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। राज ने अजीत को चुनौती देते हुए कहा कि अपने घर से पुलिस हटा दें तो मेरे आदमी घर में घुसकर मारेंगे। उन्होंने कहा कि वह बिना सरकारी तंत्र की मदद के मनसे को धमका कर दिखाएं।

जालना में रैली के दौरान राज ने कहा कि अगर राकांपा उन्हें धमकाने के लिए सत्ता का इस्तेमाल करेगी, तो मनसे जवाब देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि अजीत पवार ने मनसे को माकूल जवाब देने की बात कही है। मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार हूं। अजीत को उस समय माकूल जवाब क्यों नहीं सूझा, जब एक रैली के दौरान एक महिला कांस्टेबल के साथ अभद्र व्यवहार किया गया था। अजीत को चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि वह गृह विभाग और पुलिस की मदद लिए बिना मनसे का सामना कर के देखें।

उन्होंने आरोप लगाया कि शनिवार को कई जगह रैली के दौरान केबल टीवी नेटवर्क बंद कर दिया गया था। इससे पता चलता है कि कौन पागल हो गया है। इससे पहले अजीत ने कहा था कि राज ठाकरे पागल हो गए हैं। मनसे प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस और राकांपा के गढ़ पश्चिमी महाराष्ट्र को बड़ी मात्रा में धन भेजने के बाद भी सूखे की स्थिति जस की तस है। इसके लिए मराठवाड़ा की अनदेखी की जा रही है। फिर भी पश्चिमी महाराष्ट्र से पलायन जारी है।

राज ने सिंचाई मंत्री रह चुके अजीत पवार से पूछा कि सिंचाई परियोजनाओं पर खर्च किए गए 70 हजार करोड़ रुपये कहां बह गए। राकांपा के मंत्री भास्कर जाधव को भव्य शादी मामले में केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार द्वारा दंडित करने का जिक्र करते हुए राज ने पूछा कि क्या इस बार महाराष्ट्र में आइपीएल रद कर दिया गया है। अगर नहीं किया गया है, तो यह ढोंग बंद करें।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप