नई दिल्ली। संसद सत्र में लगातार हो रहे कांग्रेस के विरोध के खिलाफ आज समाजवादी पार्टी खुलकर सामने आ गई। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने साफतौर पर कहा कि उनकी पार्टी सदन को चलने देना चाहती है और कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन के वह सख्त खिलाफ हैं। उनका यह बयान विपक्ष पार्टियों के कुछ नेताओं की लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से हुई मुलाकात के बाद आया है। उनका कहना है कि यदि कांग्रेस सदन में चर्चा नहीं होने देना चाहती है तो हमारी पार्टी उनका साथ नहीं देगी।

उन्होंने कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा कि लोकतंत्र का अर्थ अपनी मनमानी करना नहीं है। इस मुद्दे पर जहां एक ओर कांग्रेस अलग-थलग पड़ गई है वहीं सपा को राजद, एनसीपी, जदयू और टीएमसी का साथ मिल गया है। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वह भी चाहते हैं सदन सुचारू रूप से चले, लेकिन उनकी पार्टी सदन में कुछ अहम मुद्दे उठा रही है।

गौरतलब है कि मानसून सत्र में अब सिर्फ चार ही दिन शेष रह गए हैं। अभी तक सदन में शोर-शराबे के चलते कुछ काम नहीं हो सका है। आज भी सदन की कार्यवाही विपक्ष के हंगामे की भेंट चढ़ गई। इसके बाद सपा नेता मुलायम सिंह यादव, आप के सांसद, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे और ज्योर्तिआदित्य सिंधिया ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से मुलाकात कर अपनी स्थिति स्पष्ट की है। खड़गे का कहना है कि वह सदन में अपनी पार्टी की पॉजीशन क्लीयर करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष से मिले हैं।

पढ़ें: संसद में विपक्ष का हंगामा, कार्यवाही स्थगित

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप