नागपुर, प्रेट्र। राकांपा प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में किसानों की हुई मौत को दुर्भाग्यपूर्ण कहा है। छिड़काव के दौरान किसानों की मौत हो गई है। राकांपा प्रमुख ने कहा कि जब वह केंद्रीय कृषि मंत्री थे तब उन्होंने नुकसान पहुंचाने वाले रसायनों के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी थी। बाजार में अप्रमाणित कीटनाशकों की मौजूदगी पर उन्होंने चिंता जताई और कहा कि किसानों की हुई मौत के लिए संबंधित मंत्रालय जिम्मेदार है।

हाल ही में यवतमाल जिले में किसान अपने खेतों में कपास के पौधों पर कीटनाशक का छिड़काव कर रहे थे। इसी क्रम में कीटनाशक की गंध सांसों में समा जाने से 21 किसानों की मौत हो गई। पिछले सप्ताह सोलापुर जिले में सात किसानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। अंगूर के बाग में इस्तेमाल किए गए रसायन के संपर्क में आने के बाद उन्होंने बेचैनी की शिकायत की थी।

पवार ने कहा कि कीटनाशक इस्तेमाल करने संबंधी कानून और एक स्वतंत्र संस्थान होने के बाद भी यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संस्थान से परामर्श लिए बगैर कीटनाशक का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: शरद यादव के 'जदयू' की घोषणा, रमई राम बने बिहार के प्रदेेश अध्यक्ष

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप