नई दिल्ली, आइएएनएस। जल शक्ति मंत्रालय ने बताया कि अभियान की शुरुआत के 10 महीने से भी कम समय में देश के 66 फीसद स्कूलों व 60 प्रतिशत आंगनबाड़ी केंद्रों में नल से जल पहुंचा दिया गया है। नौ राज्य व एक केंद्रशासित प्रदेश तो ऐसे हैं, जिन्होंने कोविड-19 महामारी की चुनौतियों के बीच स्कूलों, आश्रमशालाओं व आंगनबाड़ी केंद्रों में शतप्रतिशत नल से जल की उपलब्धता सुनिश्चित कराई।

पीएम मोदी ने गांधी जयंती पर की थी नल से जल की आपूर्ति अभियान की शुरुआत

स्कूलों, आंगनबाड़ी केंद्रों व आश्रमशालाओं (आवासीय स्कूल) में पढ़ने वाले छात्रों की बेहतर सेहत के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो अक्टूबर, 2020 को नल से जल की आपूर्ति के लिए अभियान की शुरुआत की थी।

देश के 6.85 लाख स्कूलों, 6.80 लाख आंगनबाड़ी केंद्रों में नल से जल की आपूर्ति

जल शक्ति मंत्रालय ने कहा, 'अभियान की शुरुआत के बाद 10 महीने से भी कम समय में देशभर के 6.85 लाख स्कूलों, 6.80 लाख आंगनबाड़ी केंद्रों व 2.36 लाख (69 फीसद) ग्राम पंचायतों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तक नल से जल की आपूर्ति सुनिश्चित कराई गई है।

7.52 लाख स्कूलों में हाथ धोने की सुविधा

6.18 लाख स्कूलों के शौचालयों में भी नल से जल पहुंच चुका है और 7.52 लाख स्कूलों में हाथ धोने की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है।

इन राज्यों व केंद्रशासित प्रदेश के सभी स्कूलों तक पहुंचा नल से जल :

आंध्र प्रदेश

गोवा

गुजरात

हरियाणा

हिमाचल प्रदेश

केरल

पंजाब

सिक्किम

तमिलनाडु

अंडमान एवं निकोबार

बच्चों को दी जाएगी जल प्रबंधन की सीख, अपशिष्ट जल प्रबंधन इकाइयां होंगी स्थापित

जल की उपलब्धता बढ़ने और बच्चों को शुरुआत से ही पानी के प्रबंधन की सीख देने के लिए देश के 91.9 हजार स्कूलों में वर्षा जल संचयन संयंत्र लगाए जाएंगे। इसके अलावा 1.05 लाख स्कूलों में अपशिष्ट जल प्रबंधन इकाइयों की स्थापना की जाएगी।

Edited By: Bhupendra Singh