नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस के प्रकोप से चीन इस वक्त काफी मुश्किलों का सामना कर रहा है। चीन सरकार के अनुसार, अभी तक करीब 2300 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी इस वायरस को लेकर लोगों के बीच डर देखा जा रहा है। हालांकि, लोगों के बीच इसको लेकर जानकारी भी कम है। लोगों के डर की मुख्य वजह फैल रही अफवाहें हैं। इन अफवाहों से लड़ने के लिए विश्वास न्यूज़ 'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' के नाम से एक कैंपेन चला रहा है। 

'विश्वास न्यूज' ने फेसबुक के साथ मिलकर स्वास्थ्य से जुड़ी अफवाह-भ्रामक सूचनाओं के खिलाफ मीडिया लिटरेसी और जागरूकता अभियान के लिए इस कैंपेन की शुरुआत की है। शनिवार को कैंपेन के तहत मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में वर्कशॉप का आयोजन कराया गया। इसमें लोगों को हेल्‍थ से जुड़ी फर्जी/गलत सूचनाओं की पहचान करने की ट्रेनिंग दी गई। खासकर नोवल कोरोना वायरस के खिलाफ लोगों को जागरूक किया गया और बचाव के उपाय भी बताए गए। 

कार्यक्रम के आयोजकों में जागरण न्‍यू मीडिया के सीनियर एडीटर प्रत्‍यूष रंजन और उर्वशी शामिल रहीं। इन्‍होंने कोरोना वायरस को लेकर लोगों के सवालों के जवाब दिए।   

भोपाल के महाराणा प्रताप नगर (एमपी नगर) के Hotel Signetic Blue में इस वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इसमें पहले सत्र में भारी संख्या में छात्र और युवा नजर आए। भोपाल स्थित मीडिया संस्थान 'माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एंव जनसंचार विश्वविद्यालय' से काफी छात्रों ने इस वर्कशाप में भाग लिया। वहीं, दूसरे सत्र में महिलाएं और वरिष्ठ नागरिकों ने अपनी सहभागिता दिखाई। वर्कशॉप में जागरण न्यू मीडिया के एडिटर-इन-चीफ राजेश उपाध्याय ने लोगों से इस विषय पर बात की। 

इस वर्कशॉप से ट्रेनिंग ले चुके लोगों को 'फैक्‍ट चेक चैम्‍प' कहा जा रहा है। अब ये अपने सोशल सर्किल (परिवार, दोस्त और सहकर्मी) के लोगों को स्वास्थ्य से जुड़ी गलत सूचनाओं के खिलाफ जागरूक करेंगे। भोपाल से पहले दिल्ली में लोगों को 'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' के जरिए ट्रेनिंग दी गई थी। दिल्ली के HOTEL LE CADRE में आयोजित हुई वर्कशॉप में काफी लोगों ने भाग लिया था। 

Posted By: Rajat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस