संवाद सूत्र, मालदा। बंगाल के मालदा में कॉलेज छात्रा हत्याकांड को लेकर शनिवार दोपहर जिले का रतुआ थाना का बाहराल इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। हत्या को लेकर ग्रामीण शनिवार सुबह मालदा-रतुआ राजमार्ग को जाम कर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे तभी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस को लक्ष्य कर बम भी फेंके गए, जिसमें चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। वहीं पुलिस ने भी अपनी रक्षा व स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठियां चटकाईं। इस झड़प में सात ग्रामीण भी घायल हुए हैं। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

छह महीने पहले हुआ था विवाह 

गौरतलब है कि तीन दिनों से लापता कॉलेज छात्रा मरजिना खातून(19) जिसका छह महीने पहले विवाह हुआ था, उसका क्षत-विक्षत शव शुक्रवार देर रात रतुआ थाना के सामसी रेल लाइन के किनारे मिला था। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। आरोपित को गिरफ्तार करने तथा कड़ी से कड़ी सजा देने के लिए ग्रामीणों ने शनिवार सुबह से सड़क जाम लगा दिया।

सेना के जवान के साथ हुआ था प्रेम

मरजिना के परिवारवालों ने बताया कि उसका सामसी के निवासी सेना के जवान मोहम्मद.अजहरुद्दीन के साथ प्रेम संबंध था। बाद में दोनों परिवारवालों की रजामंदी से निकाह हुआ। निकाह के कुछ दिनों के बाद बाहाराल स्थित घर के पड़ोस की लड़की के साथ अजहरउद्दीन के नाजायज संबंध की हमें जानकारी मिली। अजहरुद्दीन अपने ड्यूटी पर चला गया और मरजिना हमारे पास आ गयी।

कुछ दिन बाद अजहरुद्दीन उसे अपने साथ ले जाने के लिए आया और अपने घर ले गया। सुसराल जाने के बाद से मरजिना लापता हो गई। हमलोगों ने उसकी हर जगह तलाशी की। बाद में लापता होने की शिकायत थाने में दर्ज कराई गई, लेकिन पुलिस को भी कोई सुराग नहीं मिला। अजहरउद्दीन भी फरार था। बाद में हत्या का मामला दर्ज करके शनिवार को आरोपित को गिरफ्तार किया गया।

मालदा के एसपी अलोक राजौरिया ने कहा कि आंदोलन के बीच में ग्रामीणों ने पुलिस को लक्ष्य करके ईट, पत्थर व बम फेंके। स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। पुलिस छात्रा हत्याकांड व पुलिस पर हमला, दोनों घटनाओं की अलग-अलग जांच कर रही है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस