उज्जैन, जेएलएन। कानपुर में आठ पुलिसवालों की हत्या के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। विकास दुबे से पूछताछ में जुटी पुलिस को कुछ और संदिग्धों के बारे में पता चला है, जो उसके साथ मौजूद थे। उज्जैन के कई इलाकों में पुलिस उन लोगों की तलाश कर रही है।जानकारी के मुताबिक, सरेंडर के दौरान वह चिल्ला रहा था कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला।

सूत्रों के अनुसार दुबे के साथ कुछ और लोग थे, जो उज्जैन में ही ठहरे हुए थे। पुलिस को यूपी की दो कारें भी मिली हैं। इसमें शुभम नामक व्यक्ति का नाम भी सामने आ रहा है। पुलिस ने विकास के साथ मौजूद दो स्थानीय व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया है। फिलहाल उनसे पूछताछ की जा रही है।                                               

इधर प्रारंभिक रूप से यह जानकारी भी मिली है कि दुबे और उसके साथियों ने दर्शन के लिए प्री-बुकिंग भी कराई थी। विकास दुबे ने दर्शन के लिए 250 रुपये की रसीद कटवाई थी। नियमानुसार इस रसीद के लिए आइडी देना अनिवार्य होता  है। पुलिस यह जानकारी निकाल रही है कि दुबे ने रसीद कटवाते वक्त अपनी आइडी दी अथवा नहीं।

उधर,  गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र का कहना है कि वारदात होने के बाद से ही हमने मध्य प्रदेश पुलिस को अलर्ट पर रखा था। जैसे ही संदेह हुआ उसे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया।

बता दें कि सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की सामूहिक हत्या का मुख्य आरोपित विकास दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस के अलावा मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा पुलिस भी तलाश कर रही थी। विकास दुबे गुरुवार रात पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद से ही फरार था। विकास की गिरफ्तारी से पहले यूपी पुलिस ने आज उसके दो साथियों का एनकाउंटर कर दिया था। 

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस