नई दिल्ली, पीटीआइ। इस महीने के आखिर से संसद का शीत कालीन सत्र शुरू होने वाला है और उससे पहले ही राज्यसभा के चेयरमैन व उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और संसद के 875 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। उप राष्ट्रपति नायडू दूसरी बार कोरोना से संक्रमित हुए हैं।

उप राष्ट्रपति सचिवालय ने रविवार को ट्वीट किया, 'हैदराबाद में उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू को कोरोना संक्रमित पाया गया है। उन्होंने एक हफ्ते के लिए खुद को क्वारंटाइन कर लिया है। साथ ही उन्होंने उनके संपर्क में आए लोगों से भी अपनी जांच कराने और आइसोलेशन में रहने की अपील की है।' संक्रमित होने के बाद अब उप राष्ट्रपति के बुधवार को गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने की संभावना भी नहीं है।

शीत कालीन सत्र से पहले संसद के 2,847 कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कराया जा रहा था। 20 जनवरी तक इनमें से 875 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। बता दें कि संसद का शीत कालीन सत्र 31 जनवरी से शुरू हो रहा है जो 11 फरवरी तक चलेगा। इस दौरान एक फरवरी को बजट पेश किया जाएगा।

इससे पहले उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने रविवार को सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125वीं जयंती पर श्रद्धाजंलि दी। एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि नेताजी ने देश की मातृभूमि के लिए नि:स्वार्थ समर्पण का परिचय दिया। इसके साथ ही उन्‍होंने इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा स्थापित करने के केंद्र सरकार के फैसले की भी सराहना की।

उपराष्ट्रपति सचिवालय ने नायडू के हवाले से ट्वीट किया- राष्ट्र स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका के लिए सुभाष चंद्र बोस का ऋणी है। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि भी अर्पित की। नायडू ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस मातृभूमि के लिए नि:स्वार्थ समर्पण का परिचय दिया। पूरा देश आज पराक्रम दिवस पर महान नेता को याद करता है और उन्हें सलामी देता है।

Edited By: Krishna Bihari Singh