नई दिल्‍ली, एएनआइ। Weather Alert भारतीय मौसम विभाग ने दिल्‍ली/एनसीआर (Delhi NCR) अगले तीन दिनों में हल्‍की बारिश की भविष्‍यवाणी की है। साथ ही ओडिशा, उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और असम में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग की मानें तो बिहार में बारिश एकबार फ‍िर दस्‍तक दे सकती है। झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने के साथ बारिश का पूर्वानुमान है।

मौसम विभाग की मानें तो हल्‍की बारिश से दिल्‍ली-एनसीआर क्षेत्र के तापमान पर अधिक प्रभाव नहीं पड़ेगा। हालांकि, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कुछ समय तक बारिश नहीं होगी। ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन में कहा गया है कि दक्षिण पश्चिम अरब सागर, मध्‍य बंगाल की खाड़ी, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी। मौसम विभाग ने संबंधित इलाकों के मछुआरों को कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है। 

बताया जाता है कि उत्‍तर प्रदेश के कुछ हिस्‍सों में बारिश का दौर शुरू हो गया है। लखीमपुर में बारिश से किसानों के चेहरे खिल गए हैं। वहीं कानपुर और आस पास के इलाकों में बुधवार रात से गुरुवार दोपहर तक हुई झमाझम बारिश ने उम्मीद का माहौल बनाया है। स्‍थानीय प्रशासन की मानें तो इस इस हफ्ते आसमान में मध्यम से घने बादल छाये रहने के साथ ही आस पास के इलाकों में बारिश की संभावना है। 

उत्‍तराखंड में भारी से ज्‍यादा भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इससे पहले राज्‍य में मौसम का मिजाज सामान्य बना रहा। पर्वतीय जिलों में गुरुवार को छिटपुट बारिश का दौर जारी रहा। बदरीनाथ हाईवे को छोड़कर अन्य तीनों धामों के राजमार्ग सुचारु रहे। बदरीनाथ मार्ग लामबगड़ में सुचारू नहीं रहा। यहां पर पहाड़ी से रुक-रुक कर हो रहे भूस्खलन से दिक्कतें खड़ी हुईं। पहाड़ी से बोल्डर गिरने के कारण यहां रास्ते से मलबा हटाने में भी खतरा बना हुआ है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप