नई दिल्‍ली, जेएनएन। स्पेन के शहर बार्सिलोना में गुरुवार को एक वैन ने भीड़भाड़ वाली सड़क पर लोगों को रौंद दिया। आतंकियों ने इस हमले में व्हीकल को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया। इस आतंकी हमले में 13 लोगों की जान चली गई और 100 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। हालांकि यूरोप में यह पहली घटना नहीं है, जब आतंकियों ने अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए व्हीकल को हथियार की तरह इस्तेमाल किया है।

स्पेन के बार्सिलोना शहर के हुए हमले की जिम्‍मेदारी आतंकवादी संगठन आइएसआइएस ने ली है। तेज गति से आई वैन से लोगों कुचलने के बाद ड्राइवर पैदल ही भाग निकला। हालांकि पुलिस ने इस हमले के शामिल दो लोगों को हिरासत में ले लिया। लेकिन ये अपने मंसूबों को अंजाम देने के कामयाब रहे। पिछले कुछ सालों से आतंकियों ने व्‍हीकल को लोगों की जान लेने का नया हथियार बना लिया है। 



-फ्रांस में नीस स्थित एक रिसॉर्ट में बास्तील दिवस पर आतिशबाजी का प्रदर्शन देख रहे लोगों की भीड़ पर एक 19 टन वजनी ट्रक चढ़ जाने से कम से कम 84 लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने इस हमले को आतंकवादी हमला करार दिया था। आइएसआइए ने बयान जारी कर कहा था कि इस हमले को उसके फॉलोअर ने अंजाम दिया था।

-पेरिस में इस साल 9 अगस्त को एक व्यक्ति ने कुछ सैनिकों पर बीएमडब्ल्यू गाड़ी दौड़ा दी, इसमें छह लोग घायल हो गए।

-लंदन में इस साल 3 जून को तीन आतंकियों ने लंदन ब्रिज पर लोगों पर वैन दौड़ा दी और कई लोगों पर चाकू से हमला किया था। जून महीने में ही फ़िन्सबरी पार्क में मुसलमानों पर एक वैन हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

-बर्लिन में 19 दिसंबर 2016 को क्रिसमस मार्केट में ट्रक घुसाकर एक शख्स ने 12 लोगों की जान ले ली।

यूरोप में हुए ऐसे कई हमले जुलाई 2016 के बाद से यूरोप में भीड़ को वाहन से कुचलने के कई आतंकी हमले हुए हैं। नीस, बर्लिन, लंदन और स्टॉकहोम में हुए ऐसे आतंकी हमलों में करीब 100 लोगों की मौत हो चुकी है।
 

यह भी पढ़ें: आइएस के शीर्ष आतंकियों को अमेरिका ने किया ब्लैक लिस्ट

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप