नई दिल्ली [जासं]। वसंत कुंज में घरेलू सहायिका को बंधक बना अमानवीय अत्याचार करने के मामले में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती घरेलू सहायिका ने जांच अधिकारी को दिए बयान में मालकिन वंदना धीर पर फिर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने बयान में कहा है कि वंदना धीर उसे अक्सर रात को बाथरूम में सुलाती थी और बाहर से दरवाजा बंद कर देती थी।

घरेलू सहायिका उत्पीड़न मामले में एसडीएम ने लिया बयान

घरेलू सहायिका के इस बयान को भी पुलिस कोर्ट के समक्ष रखेगी। वंदना धीर अभी जेल में बंद है। दो बार उसकी जमानत अर्जी खारिज हो चुकी है। आगामी 16 अक्टूबर को उसकी पेशी फिर पटियाला हाउस कोर्ट में होगी। उधर, साउथ एक्स में प्लेसमेंट एजेंसी चलाने वाली डॉरोथी की पुलिस रिमांड खत्म हो जाने पर पूछताछ के बाद फिर उसे जेल भेज दिया गया। पूछताछ से पता चला कि वर्तमान में वंदना के घर काम करने वाली पीड़ित घरेलू सहायिका से पूर्व उसके घर काजल नाम की घरेलू सहायिका डॉरोथी की रिश्तेदार है। उसे डॉरोथी ने ही वंदना के घर काम पर रखवाया था। वंदना उस पर अत्याचार नहीं करती थी। उसे भी पुलिस ने पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया है।

सफदरजंग अस्पताल में भर्ती घरेलू सहायिका अभी उपचाराधीन है। पुलिस व कोर्ट को शक था कि वंदना जब वर्तमान घरेलू सहायिका के साथ इस तरह से अत्याचार करती थी तब पूर्व घरेलू सहायिका काजल के साथ भी अत्याचार करती होगी। इसलिए उसे ढूंढकर पता लगाया गया। पुलिस की योजना थी कि अगर काजल भी अत्याचार करने का आरोप लगाएगी तब उसे मुख्य गवाह बनाया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस