नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से वैक्सीन के स्टाक और उसके रखरखाव के लिए आवश्यक तापमान को लेकर इलेक्ट्रानिक वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क (ईविन) पर उपलब्ध डाटा को साझा नहीं करने की सलाह दी है। केंद्र ने कहा है कि इस तरह की सूचनाएं संवेदनशील हैं और इनका इस्तेमाल टीकाकरण कार्यक्रम को और बेहतर बनाने में ही किया जाना चाहिए। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भेजे गए पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि केंद्र ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के सहयोग से यूआइपी के तहत ईविन सिस्टम को शुरू किया गया है। इसके जरिये राष्ट्रीय से लेकर तहसील स्तर पर वैक्सीन के स्टाक और तापमान पर रखा जाता है।

मंत्रालय ने पत्र में कहा है कि यह देखकर अच्छा लगता है कि सभी राज्य वैक्सीन के स्टाक और उसकी लेनदेन की जानकारी दैनिक स्तर पर अपडेट करने के लिए इस सिस्टम का उपयोग कर रहे हैं। मंत्रालय ने कहा है कि उसकी सहमति के बिना ईविन पर डाटा और विश्लेषणों को किसी भी दूसरे संगठन, सहयोगी एजेंसी, मीडिया, आनलाइन या अन्य तरीके से साझा नहीं किया जाए।

इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि सरकार टीकाकरण कार्यक्रम में पारदर्शिता के लिए प्रतिबद्ध है और इसीलिए आईटी-आधारित कोविन के माध्यम से इसे शुरू किया गया है ताकि लोगों तक सही जानकारी पहुंचाई जा सके। इसका उद्देश्य आम जनता तक रोजाना सही जानकारी पहुंचाना है।