जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग (यूएससीआइआरएफ) की भारत में धार्मिक आजादी संबंधी रिपोर्ट को भारत सरकार ने यह कहते हुए खारिज कर दिया है कि इसकी कोई विश्वसनीयता नहीं है और यह एक मनगढ़ंत एजेंडा के आधार पर तैयार किया जाता है। USCIRF की तरफ से दो दिन पहले जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में धार्मिक आजादी की स्थिति काफी खराब है।

भारत को बताया गया है धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों के खिलाफ

असलियत में रिपोर्ट में भारत को उन विशेष देशों की सूची में शामिल करने की बात कही गई है जहां धार्मिक आजादी पर लगातार हमला किया जा रहा है। इसमें भारत सरकार की तरफ से हाल के दिनों में उठाये गये कदमों को भारत के धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों के खिलाफ भी बताया गया है।

भारत को नकारात्मक छवि दिखाने के लिए किया गया है तैयार

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा है कि यह पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण तरीके से और भारत को नकारात्मक छवि में दिखाने के लिए तैयार किया गया है। यह एजेंसी लगातार तथ्यों को गलत तरीके से पेश करती है और इससे साफ होता है कि उन्हें भारत के संवैधानिक मूल्यों, बहुवादी व मजबूत लोकतांत्रिक व्यवस्था की समझ नहीं है। इनका पिछला रिकार्ड भी ऐसा ही है। हमें कोई अचरज नहीं है कि यूएससीआइआरएफ अपनी पूर्वाग्रही मानसिकता और दिग्भ्रमित करने वाले एजेंडा के तहत ही काम करता है।

यह भी पढ़ें- विदेश मंत्रालय ने कहा- कतर ने FIFA World Cup के लिए जाकिर नाइक को नहीं दिया कोई निमंत्रण

यह भी पढ़ें- लचित बरफुकन की शौर्य गाथा पर PM Modi रखेंगे अपने विचार, वीर योद्धा की स्मृति में चलाया गया था कार्यक्रम

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट