नई दिल्ली, पीटीआई भाजपा ने रविवार को कांग्रेस पर जमात-ए-इस्लामी और पीएफआइ के साथ मिलकर कट्टरपंथी सिंडिकेट बनाने और चरमपंथ को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। भाजपा ने पूछा कि क्या तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी राजद भी इस गठजोड़ का हिस्सा है।

नकवी ने कहा- प्रतिबंधित जमात-ए-इस्लामी के साथ कांग्रेस का समझौता

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने जमात-ए-इस्लामीके राजनीतिक संगठन वेलफेयर पार्टी और पीएफआइ के साथ समझौता किया है। जमात ए इस्लामी को भारत सरकार ने प्रतिबंधित कर रखा है जबकि पीएफआइ पर नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश में चले प्रदर्शनों के लिए धन उपलब्ध कराने और अन्य गैर कानूनी गतिविधियों में संलिप्त होने का आरोप है।

नकवी ने कहा- वायनाड में कांग्रेस से ज्यादा जमात के झंडे दिखाई दे रहे थे

भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए नकवी ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी वायनाड से चुनाव लड़ रहे थे तो देश बहुत आश्चर्यचकित था कि कांग्रेस के झंडों से ज्यादा जमात-ए-इस्लामी के झंडे क्यों दिखाई दे रहे थे। काफी लोग आश्चर्यचकित थे कि धर्मनिरपेक्ष पार्टी का कौन सा रेडिकल अलायंस हुआ है।

नकवी ने तेजस्वी से पूछा- क्या राजद भी इस गठजोड़ का हिस्सा है

नकवी ने राजद नेता तेजस्वी यादव से पूछा कि क्या कांग्रेस के साथ उनकी पार्टी का भी जमात-ए-इस्लामी और पीएफआइ के साथ समझौता हुआ है क्योंकि राजद और कांग्रेस बिहार में साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये बात तेजस्वी यादव को बिहार की जनता को स्पष्ट करना होगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021