मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जम्मू-कश्मीर, जेएनएन। भारत के AICTE और UGC जैसे उच्च शिक्षा नियामकों ने छात्रों के लिए एक सूचना जारी की है। इस एडवाइजरी में कहा गया है कि छात्र पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में मौजूद किसी भी संस्थान में प्रवेश ना लें। इस सूचना के साथ तर्क दिया गया है कि यहां मौजूद किसी भी संस्थान को भारत सरकार की मंजूरी नहीं मिली है।

पीओके जम्मू कश्मीर का पाकिस्तान के कब्जे वाला क्षेत्र है, इसलिए एडवाइजरी में खासतौर से जम्मू और कश्मीर के छात्रों को सचेत किया गया है। AICTE और UGC ने कश्मीरी छात्रों को कहा है कि वह यहां चलने वाले विश्विद्यालयों या मेडिकल और टेक्निकल संस्थानों में एडमिशन ना लें। बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर के काफी स्टडेंट्स पीओके में मौजूद संस्थानों में एडमिशन लेने की सोच रहे हैं, इसलिए यह सूचना जारी की गई है।

यूजीसी के सेक्रेटरी रजनीश जैन ने एजवाइजरी में कहा, 'पाकिस्तान अधिकृत जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। यहां मौजूद विश्विद्यालय या मेडिकल और टेक्निकल संस्थानों को भारत सरकार, AICTE या UGC की मान्यता प्राप्त नहीं है।' उन्होंने आगे कहा, 'इसलिए छात्रों को सूचित किया जाता है कि वे पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले क्षेत्र में किसी संस्थान या यूनिवर्सिटी में प्रवेश ना लें।' 

इसी बीच कश्मीर में मौजूद एक प्राइवेट स्कूल ने इस सूचना पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि शिक्षा का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए और छात्रों को कहीं भी प्रवेश लेने की अनुमति दी जानी चाहिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप